28 साल की चार्मी ने त्यागा सांसारिक जीवन,जाने पूरी खबर

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-झरिया के फतेहपुर लेन निवासी देवेन्द्र भाई संघवी और शीलाबेन संघवी की छोटी पुत्री चार्मी संघवी (28) बुधवार को सांसारिक जीवन को त्याग कर साध्वी बन गईं। माता-पिता और समाज के लोगों ने बरसी दान कार्यक्रम आयोजित कर साध्वी बनने की अनुमति दी। अब चार्मी परम पूज्य गुरुदेव नम्रमुनि महाराज से दीक्षा लेकर साध्वी का जीवन व्यतीत करेंगी।

श्री श्वेतांबर स्थानक वासी जैन संघ की ओर से अग्रसेन भवन में आयोजित बरसी दान कार्यक्रम में सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। चार्मी संघवी के साथ कोलकाता की साध्वी हीरल बेन भी मौजूद थीं। लोगों ने खुले दिल दोनों को विदाई दी। यह क्षण भावुक हो गया था। समाज के लोगों ने उपहार देकर सम्मानित किया। मंा और पिता ने भी दीक्षा लेने के लिए विदाई दी। झरिया में दो साल में यह दूसरा मौका है जब यहां की बेटी साध्वी बनी हैं। इसके पहले परी संघवी साध्वी बनीं, जो अब परम पविता महासती के नाम से मशहूर हैं। बरसी दान के मौके पर संघ के अध्यक्ष दीपक दुदानी के अलावा केपी तिवारी, हरीश जोशी, उपेन्द्र दवे, सुरेश कामदार, पार्षद सुमन अग्रवाल, अशोक साह, रमेश संघवी, कमल संघवी, पुष्पा संघवी, सोनल संघवी, सीमा कामदार, प्रीति उदानी, कोलकाता से असीम भाई संघवी, कनक भाई संघवी, अश्विनी संघवी, नैना मोदी आदि थीं।

श्री श्वेतांबर स्थानक वासी जैन संघ की ओर से अग्रसेन भवन में आयोजित बरसी दान कार्यक्रम में सैकड़ों लोगों ने भाग लिया। चार्मी संघवी के साथ कोलकाता की साध्वी हीरल बेन भी मौजूद थीं। लोगों ने खुले दिल दोनों को विदाई दी। यह क्षण भावुक हो गया था। समाज के लोगों ने उपहार देकर सम्मानित किया। मां और पिता ने भी दीक्षा लेने के लिए विदाई दी। झरिया में दो साल में यह दूसरा मौका है जब यहां की बेटी साध्वी बनी हैं। इसके पहले परी संघवी साध्वी बनीं, जो अब परम पविता महासती के नाम से मशहूर हैं। बरसी दान के मौके पर संघ के अध्यक्ष दीपक दुदानी के अलावा केपी तिवारी, हरीश जोशी, उपेन्द्र दवे, सुरेश कामदार, पार्षद सुमन अग्रवाल, अशोक साह, रमेश संघवी, कमल संघवी, पुष्पा संघवी, सोनल संघवी, सीमा कामदार, प्रीति उदानी, कोलकाता से असीम भाई संघवी, कनक भाई संघवी, अश्विनी संघवी, नैना मोदी आदि थीं।