233 आरक्षकों को मिल गई देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी

जनता से रिश्ता वेबडेस्क
जसेरि रिपोर्टर
परेड ग्राउंड से बाहर कदम रखते ही अंतिम पग पर भावुक हुए जवान
भिलाई। आसमान की ओर हाथ उठाकर पहले कर्तव्य निष्ठा और इमानदारी से देश सेवा की शपथ और फिर परेड कर सलामी दी और इसी बीच अंतिम पग की वह घड़ी जो जवानों को भावुक कर गई। एक ओर वह परेड ग्राउंड से बाहर आ रहे थे तो दूसरी ओर उनके पैरेंट्स और दोस्त इस पल को मोबाइल में कैद कर रहे थे। सीआईएसएफ के उतई स्थित ट्रेनिंग कैंप के 78 वें पॉसिंग आउट परेड में शुक्रवार को 233 आरक्षकों ने दीक्षांत परेड में हिस्सा लिया।
एडीजी आलोक कुमार पटेरिया ने सलामी ली
इस अवसर पर मुख्य अतिथि सीआईएसएफ के एडीजी आलोक कुमार पटेरिया ने दीक्षांत परेड का पहले निरीक्षण किया और जवानों से सलामी ली। इस अवसर पर ट्रेनिंग सेंटर की प्राचार्य एवं डीआईजी शिखा गुप्ता ने बताया कि इन जवानों को 43 सप्ताह का कठिन प्रशिक्षण दिया गया है। जिससे वे औद्योगिरक सरुक्षा के साथ ही आंतरिक सुरक्षा में भी दक्ष हो गए हैं। कार्यक्रम में प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले जवानों को ट्राफी भी दी गई।
एडीजी ने कहा- स्वागत है आपका
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एवं एडीजी आलोक पटेरिया ने जवानों से कहा कि डेढ़ लाख की बल संख्या वाले सीआईएसएफ के परिवार में आप सभी का स्वागत है। उन्होंने बताया कि किस तरह सीआईएसएफ देश की औद्योगिकर सुरक्षा के साथ ही वीआईपी ड्यूटी में अहनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभा रहा है। उन्होंने जवानों को राष्ट्र की बदलती परिस्थितियों व जरूरतों के अनुसार खुद को तैयार रखने की बात कही।
राजस्थान पुलिस ने दिखाया योगा
समारोह के दौरान कई डेमोस्टे्रशन भी दिए गए। जिसमें ट्रेनिंग सेंटर में प्रशिक्षण लेने आए राजस्थान पुलिस के जवानों ने योग का बेहतरीन प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने सूर्य नमस्कार के साथ ही कई आसनों के हैरतअंगेज आसन करके दिखाए। इसी दौरान मलखम और मार्शल आर्ट का भी शानदार प्रदर्शन सीआईएसएफ के जवानों ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here