हरेन पांड्या हत्याकांड मामले में दोषी ठहराये गये 8 मुजरिमों ने आत्मसमर्पण किया

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- कोलकाता,कोलकाता की एक अदालत ने एक महिला की हत्या के लिये सोमवार को तीन दोषियों को मौत की सजा सुनाई। अतिरिक्त सत्र न्यायधीश (आई) जिमूत वाहन बिस्वास ने जयंती देब नामक महिला की हत्या के लिये सुरोजित देब, लिपिका पोद्दार और संजॉय बिस्वास को सजा सुनायी। अभियोजन पक्ष के वकील ने कहा कि जयंती देब, सुरोजित देब की पत्नी और लिपिका उसकी प्रेमिका थी। वकील ने बताया कि सुरोजित और लिपिका ने 2014 में जयंती की हत्या के लिये सुपारी लेकर हत्या करने वाले संजॉय बिस्वास को 12 हजार रुपये दिये थे। संजॉय ने जयंती की हत्या के बाद उसके शव के कई टुकड़े किये और उसके हाथों-पैरों को दो थैलों में भर दिया और एक थैले में उसका सिर रख दिया। उसने शरीर के शेष अंगों को एक रजाई में लपेटा और थैले में भरकर सियालदह स्टेशन पर फेंक दिया। सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने मामले की जांच के दौरान सुरोजित को उत्तरी कोलकाता में लेक टाउन स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया था। उसकी गिरफ्तारी के बाद लिपिका और संजॉय को गिरफ्तार किया गया था।