किडनी हमारी शरीर में संतुलन बनाये रखने के कई काम करती है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- नई दिल्ली।  वह अपशिष्ट उत्पादों को फिल्टर करके मूत्र के रास्ते बाहर निकाल देती है।वह शरीर में पानी की मात्रा, सोडियम, पोटेशियम और कैल्शियम की मात्रा (इलेक्ट्रोलाइट्स) को संतुलित करती है। साथ ही अतिरिक्त अम्ल एवं क्षार निकालने में मदद करते हैं जिससे शरीर में एसिड एवं क्षार का संतुलन बना रहता है।शरीर में किडनी का मुख्य कार्य खून का शुद्धीकरण करना है। जब बीमारी के कारण दोनों किडनी अपना सामान्य कार्यनहीं कर सके, तो किडनी की कार्यक्षमता कम हो जाती है, जिसे हम किडनी फेल्योर कहते हैं। इस मामले में भारत टॉप पर है और दुनिया में भी यह बीमारी तेजी से फैल रही है। भारत में प्रत्येक 10 में से एक इंसान को किसी न किसी रूप में क्रोनिक किडनी की बीमारी होने की संभावना होती है।
हालांकि, हम किडनी का फेल होने को काफी हद तक रोक सकते हैं या कम कर सकते हैं। जानते हैं हमारी जीवनशैली से जुड़ी ऐसी ही कुछ खराब आदतों के बारे में जो हमारी किडनी को खराब कर सकती हैं।

– सुबह उठकर सबसे पहले मूत्र करें क्योंकि रात भर मे मूत्र की पूरी थैली भर जाती है। और जब हम सुबह भी पेशाब नही करते तो हमारी किडनी पर दबाव पड़ता है, जो किडनी के लिए अच्छा नहीं होता। जब व्यक्ति उचित मात्रा में पानी नहीं पीता है, तो यही विषैले तत्व शरीर में इकट्ठे होने शुरू हो जाते है, जो शरीर को कई रोग देते हैं।

– धूम्रपान एवं तम्बाकू का सेवन से कई गंभीर समस्याएं होती हैं (विशेषकर फेफड़े संबंधी रोग) लेकिन इसके कराण ऐथेरोस्कलेरोसिस रोग भी होता है। जिससे रक्त नलिकाओं में रक्त का बहाव धीमा पड़ जाता है और किडनी में रक्त कम जाने से उसकी कार्यक्षमता घट जाती है। इसलिए धूम्रपान और तंबाकू का सेवन न करें। बहुत ज्यादा शराब पीते से अल्कोहल किडनीज को पूरी तरह डैमेज कर सकती है, क्योंकि इसमें अधिक मात्रा में टॉक्सिन्स होते हैं।

-अगर आप लंबे समय से पेनकिलर्स खा रहे हैं, तो इससे किडनीज के काम में असर पड़ता है। शरीर में खून की कमी भी हो सकती है। वहीं ज्यादा प्रोटीन खाने से भी किडनी पर बुरा असर पड़ सकता है। चूंकि किडनी बेहद नाजुक अंग है, ऐसे में ज्यादा प्रोटीन से यह डैमेज हो सकती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here