सिर्फ चाय के सहारे 33 वर्षों से जिंदा है यह महिला

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- आज हम आपको एक ऐसा किस्सा बताने जा रहे हैं जिसको सुन के आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे। आप सोच में पड़ जाएंगे कि आखिर ऐसा कैसे हो सकता है। आपने इससे पहले ऐसा कोई भी किस्सा नहीं सुना होगा। दरअसल एक महिला करीब 33 सालों से केवल चाय पीकर जिंदा है। चौंक गए ना? ये बिलकुल सच है। अब आप इसे कुदरत का करिश्मा कहे या कुछ और लेकिन सच तो यही है कि ये महिला सिवाय चाय के किसी और चीज़ का सेवन नहीं करती। इस महिला का नाम पल्ली देवी है, जो कोरिया जिले के बैकुन्ठपुर विकासखण्ड के बरदिया गांव में अपने पिता के घर पर रहती है। परिजनों का कहना है 11 वर्ष की उम्र में बिना की कारण के पल्ली ने अचानक अन्न-जल का त्याग कर दिया था। समूचे गांव एवं आसपास के इलाके में हर कोई पल्ली देवी को चाय वाली चाची के नाम से जानता है।

6वीं कक्षा से छोड़ दिया था खाना

पल्ली देवी के पिता रतिराम बताते हैं कि जब मेरी बेटी कक्षा 6वीं में थी, तब से ही उसने भोजन को छोड़ दिया। पहले तो एक दो माह तक उसने बिस्किट, चाय और ब्रेड लिया, लेकिन उसके बाद धीरे-धीरे बिस्किट और ब्रेड भी खाना छोड़ दिया। फिर उन्होंने साल 1995 में अपनी बेटी की शादी कर दी थी। उनको लगा था कि शायद सब ठीक हो जाएगा, लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं।

मेडिकल साइंस में ये असंभव

इस मामले में बैकुन्ठपुर शर्मा हॉस्पिटल के संचालिका डॉ रजनी शर्मा कहती है कि मेडिकल साइंस ऐसा होना संभव नहीं है। उनके मुताबिक, इंसानी शरीर एक मशीन है और खाना-पानी इसका ईंधन है। हालांकि कुछ लोगों का शरीर दूसरों से अलग होता है।बता दें कि महिला का दो तीन बार चेकअप किया गया था। हैरानी की बात ये है कि इतने सालों से भूखे रहने पर भी महिला का हीमोग्लोबीन 8 और 9 के बीच ही रहता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here