उत्तर प्रदेश : सांड से जान बचाने को भागीं बच्चियां, गहरे गड्ढे में गिरने से डूबकर मौत

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- गोंडा : उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में गहरे गड्ढे में डूबने से दो बच्चियों की मौत हो गई। थाना देहात कोतवाली के अंतर्गत पिपरा पदुमपुर की ये बच्चियां स्कूल से पढ़कर वापस घर जा रही थीं। रास्ते में आवारा सांड ने इन्हें दौड़ा लिया। जान बचाने को भागी बच्चियां सड़क के बगल के गहरे गड्ढे में गिर गईं। जब तक घरवाले पहुंचते पानी गहरा होने के चलते दोनों की मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है। बताते चलें कि साधना (13) और रागिनी गांव से कुछ दूरी पर स्थित जूनियर प्राथमिक विद्यालय से पढ़कर वापस आ रही थीं। गांव के कुछ और बच्चे भी साथ में थे। घर से कुछ दूरी पर आवारा सांड ने दोनों बच्चियों को दौड़ा लिया। बच्चियां सांड से बचने के लिए भागीं लेकिन बगल में गड्ढा था, जिसमें दोनों गिर गईं। पानी अधिक होने के कारण प्रयास के बाद भी गड्ढे से बाहर नहीं निकल सकीं। साथ के बाकी बच्चे भागकर गए और गांव में बताया। जबतक बाकी लोग आते दोनों बच्चियों की मौत हो चुकी थी। सूचना पर देहात कोतवाली पुलिस ने पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा है।
डीएम के आदेश के बाद रात में ही हुआ पोस्टमॉर्टम
मौके पर पहुंची पुलिस से लोगों ने रोष भी जताया कि भट्टा मालिक द्वारा लीज पर जमीन लेकर मानक से अधिक मिट्टी निकाल ली गई है, जिसके कारण गहरा गड्ढा होने से जलजमाव के चलते बच्ची की जान गई है। सीओ सदर महावीर सिंह ने बताया है कि मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है। जिला अधिकारी के आदेश के बाद रात में ही पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है। पूरे गांव में मातम पसरा है। कोई बता रहा कि सीएम योगी के आदेश के बाद भी सांड गोशाला मे नहीं पहुंचे। वहीं, कुछ लोग यह भी कह रहे हैं कि भट्ठा मालिक के मानक से अधिक मिट्टी निकाल लेने से गहरा गड्ढा के कारण यह हादसा हुआ है ।चाहे जो हो पूरे गांव मे कोहराम मचा है परिजनो का रो रो कर बुरा हाल है ।