सबसे ज्यादा महंगा हुआ प्याज एक दिन में 1000 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ी कीमत

 जनता  से रिश्ता वेबडेस्क – देश के सबसे बड़े होलसेल प्याज मार्केट  ‘लासलगांव एपीएमसी’में बीते गुरुवार को प्याज के भाव में 1,000 रुपये प्रति क्विंटल से भी अधिक का इजाफा हुआ. इसके साथ ही इस बाजार में प्याज का भाव बीते 4 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच चुका है. गुरुवार शाम को इस बाजार में प्याज का भाव 4,500 रुपये प्रति क्विंटल के पार जा चुका है.इसके पहले इस बाजार में प्याज का उच्चतम भाव 16 सितंबर 2015 को गया था. इस दिन प्याज का भाव अधिकतम 4,300 रुपये प्रति क्विंटल के स्तर पर पहुंचा था. इस बाजार में अब का सबसे उच्चतम भाव 5,700 रुपये प्रति क्विंटल था, जोकि 22 अगस्त को 2015 को दर्ज किया गया था.लासलगांव में बीते एक सप्ताह से प्याज की कीमतों में बढ़त दर्ज की जा रही है. बताते चलें कि देशभर के कई प्रमुख मंडियों में लासलगावं के ही प्याज सप्लाई किये जाते हैं. पिछले सप्ताह इस बाजार में प्याज का जो भाव 35 रुपये प्रति किलोग्राम था वो बढ़कर 50 रुपये प्रति किलोग्राम हो गया है. लासलगांव में गुरुवार को प्याज की कीमतों में इस बढ़ोतरी को असर अलगे दो तीन दिनों में बाजार में दिखने लगेगा.

क्यों प्याज की कीमतों में आई तेजी

दक्षिण भारत के कुछ राज्यों में प्याज की आवक में कमी आई है. इन्हीं राज्यों में प्याज की सबसे अधिक उत्पादन होता है. यही वजह है कि प्याज के मांग बढ़ने की वजह से कीमतों में तेजी दर्ज की जा रही है. खरीफ फसल अभी भी पके नहीं है और इसकी कटाई में अभी कुछ समय लगेगा.इस रिपोर्ट में APMC के अधिकारियों के हवाले से लिखा गया है कि बीते कुछ दिनों में प्याज में आवक में अचानक कमी आई है. पिछले माह लासलगांव में 15 हजार क्विंटल प्याज हर रोज आता था. अब यह घटकर 10-12 हजार क्विंटल प्रति दिन हो गया है. गुरुवार को इस बाजार में 7 हजार​ क्विंटल ही प्याज की आवक रही. हालांकि, उम्मीद जताई जा रही है कि आने वाले कुछ दिनों में स्थिति बेहतर होगी, क्योंकि दक्षिण राज्यों के प्याज की नई फसले आने लगेगी.