सत्यपाल मलिक: घुसपैठियों को यहां ‘हताश’ पाकिस्तान को भारतीय बल मुंह तोड़ जवाब दे रहे हैं

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने शनिवार को कहा कि  घुसपैठियों को यहां प्रवेश नहीं करा पाने से ‘हताश’ पाकिस्तान को भारतीय बल मुंह तोड़ जवाब दे रहे हैं।मलिक ने राज्य में पंचायत चुनावों के सफलतापूर्वक आयोजन पर प्रसन्नता जाहिर की और कहा कि यहां माहौल बिगाड़ने के पाकिस्तान एवं आतंकवादियों के प्रयास के बावजूद घाटी में पूर्ण शांति बनी हुई है। मलिक ने एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा हमारे बल किसी भी तरह के उकसावे पर उचित ढंग से प्रतिक्रिया दे रहे हैं,लेकिन खबर यहां तक नहीं पहुंचती।पाकिस्तान निराश है क्योंकि वह घुसपैठियों को नहीं घुसा पा रहा।वह पंचायत चुनावों के खिलाफ था और उसके सफल समापन से नाखुश था। शुक्रवार को राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा के पास आईईडी विस्फोट की घटना पर राज्यपाल ने कहा कि इस तरह की घटना पाकिस्तान की कुंठा को दर्शाती है।इसमें सेना का एक जवान एवं एक मेजर शहीद हो गए थे।घाटी में कश्मीरी पंडितों के पुनर्वास पर मलिक ने कहा कि सरकार उनको लेकर चिंतित है। बहरहाल,उन्होंने विस्तार से कुछ नहीं बताया। इससे पहले राज्यपाल ने स्वामी विवेकानंद की 156वीं जयंती के अवसर पर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

शाह फैसल बतौर अधिकारी बेहतर सेवा करते : मलिक जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने शाह फैसल को एक कुशल और समर्पित आईएएस अधिकारी बताया। राज्यपाल ने शनिवार को कहा कि राजनीति से जुड़ने का उनका फैसला व्यक्तिगत है, लेकिन नेता के बजाय एक अधिकारी के तौर पर वह लोगों की बेहतर सेवा करते। राज्यपाल ने एक बयान में कहा, फैसल एक कुशल एवं समर्पित अधिकारी रहे हैं जिन्होंने राज्य और उसकी जनता, खास तौर पर समाज के कमजोर तबकों के लोगों के कल्याण के लिए बहुत ही उत्साह से अपनी सेवाएं दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here