श्रीकृष्ण के 0.6 प्रसिद्ध मंदिर, इस जन्माष्टमी दर्शन करने से मिटेंगे दुख

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- पूरे देश में भगवान कृष्ण के अनगिनत मंदिर हैं, जहां हमेशा श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है. इनमें से कुछ मंदिर एकदम खास हैं. आइए जन्माष्टमी के पवित्र अवसर पर जानते हैं श्री कृष्ण के कुछ खास मंदिर कौन से हैं.                                                                                                                    जगन्नाथ मंदिर, ओडिशा :पुराणों में जगन्नाथ पुरी को धरती का बैकुंठ कहा गया है. जगन्नाथ मंदिर की महीमा देश में ही नहीं विश्व में भी प्रसिद्ध हैं. पुरी में बना जगन्नाथ मंदिर भारत में हिंदुओं के चार धामों में से एक है. यह धाम तकरबीन 800 सालों से भी ज्यादा पुराना माना जाता है. जगन्नाथ मंदिर के शिखर पर स्थित झंडा हमेशा हवा की विपरीत दिशा में लहराता है. इसी तरह मंदिर के शिखर पर एक सुदर्शन चक्र भी है. इस चक्र को किसी भी दिशा से खड़े होकर देखने पर ऐसा लगता है कि चक्र का मुंह आपकी तरफ है.                                                               प्रेम मंदिर, वृंदावन :वृंदावन का प्रेम मंदिर अत्यंत भव्य है. रात के वक्त भी यहां श्रद्धालुओं की भीड़ कम नहीं होती है. प्रेम मंदिर की सजावट एकदम खास तरीके से की गई है. रात के वक्त ये  मंदिर रंग-बिरंगी रोशनी से चमकता रहता है, जिसका रंग हमेशा बदलता रहता है.                                                                                     इस्कॉन मंदिर, वृंदावन :वृंदावन के इस्कॉन मंदिर में राधेकृष्ण की प्रतिमा एकदम मनोहारी है. जो भी इन्हें देखता है, वे मुग्ध हो जाता है. ये मंदिर कृष्णा बलराम मंदिर के नाम भी जाना जात है. ये मंदिर साल 1975 में बनाया गया था.  वृंदावन के इस्कॉन मंदिर में श्रद्धालु झूमते-गाते हुए प्रभु की आराधना करते हैं. यहां विदेशी श्रद्धालुओं की भी अच्छी-खासी तादाद होती है।                                                                                                           द्वारकाधीश मंदिर, मथुरा :मथुरा का द्वारकाधीश मंदिर की आरती विशेष रूप से दर्शनीय होती है. मंदिर में मुरली मनोहर की सुंदर मूर्ति विराजमान है. मथुरा में पावन यमुना नदी पर कई घाट बने हुए हैं. द्वारकाधीश मंदिर के पास यमुना नदी के घाट पर श्रद्धालु दर्शन-पूजन करते हैं और नौका-विहार का भी आनंद लेते हैं.                                   श्रीनाथ जी मंदिर, नाथद्वारा राजस्थान :राजस्थान के नाथद्वारा में स्थित श्रीनाथ जी मंदिर अपनी मूर्तियों के लिए जाना जाता है. माना जाता है कि मेवाड़ के राजा इस मंदिर में मौजूद मूर्तियों को गोवर्धन की पहाड़ियों से औरंगजेब से बचाकर लाए थे. ये मंदिर 12वीं शताब्दी में  बनाया गया था. साथ ही ये मंदिर श्री कृष्ण को समर्पित है.