शहर की कामकाजी महिलाओं को मिलने जा रही ये सौगात

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :-
प्रस्ताव को दिया जा रहा अंतिम रूप
रायगढ़। शहर में कामकाजी महिलाओं के लिए हॉस्टल का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए 34 लाख रुपए का प्रस्ताव बनाया गया है। फंड की व्यवस्था महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से की जाएगी। अब इस प्रस्ताव को अंतिम रूप दिया जाना है। यह जिला बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ जिला घोषित है, लेकिन कामकाजी महिलाओं के रहने के लिए सुविधा नहीं है।
हालांकि नगर निगम के बजट में पिछले पांच वर्षों से कामकाजी महिलाओं के लिए हास्टल बनाने का प्रस्ताव लाया था। यह प्रस्ताव उन कामकाजी बेटियों के लिए था, जो बाहर ग्रामीण क्षेत्रों से आकर शहर के किसी सरकारी या गैर सरकारी संस्थान में कार्य करती है। ऐसे कामकाजी बेटियों के लिए हास्टल तैयार करने की योजना बनाई गई थी। ताकि इन कामकाजी महिलाएं एक ऐसी जगह उपलब्ध कराया जा सके, लेकिन हर बार इसे बजट के प्रस्ताव में शामिल करने के बाद भुला दिया जाता है। वहीं नगर निगम इस बार इस प्रस्ताव को मूर्तरूप देने की दिशा में आगे बढ़ा है।
नगर निगम अधिकारियों की मानें तो इसके लिए प्रस्ताव तैयार किया जा चुका है। इसकी लागत करीब 34 लाख रुपए आएगी। नगर निगम की ओर से जमीन का चिन्हांकन भी किया जा चुका है। हास्टल के लिए रेलवे स्टेशन के पास पीडब्ल्यूडी एक ऐसे भवन का चिन्हांकिन किया गया है, जो लंबे समय से जर्जर हो चुका है और पीडब्ल्यूडी विभाग उस भवन का उपयोग भी नहीं कर रहा है। अधिकारियों का मनाना है कि रेलवे स्टेशन के पास यह शहर के मध्य में रहेगा, ताकि इसका लाभ कामकाजी बेटियां आसानी से उठा सके।
वर्षों बाद मिल सका फंड : नगर निगम अपने बजट में इस प्रस्ताव को पिछले पांच वर्षों से लगातार शामिल कर रहा था, लेकिन निगम को फंड नहीं मिल रहा था।