वैज्ञानिकों ने मानव के एक और पूर्वज के चेहरे का पुनर्निर्माण किया है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-हमारे डेनिसोवंस पूर्वज (मानव की विलुप्त प्रजाति जो साइबेरिया से दक्षिण पूर्व एशिया में फैली थी), जो एक लाख साल पहले धरती पर रहते थे, वे कैसे दिखते होंगे, इसका अब तक सिर्फ अनुमान लगाया जाता था। डेनिसोवंस की गुलाबी रंग की हड्डियां, तीन दांत व निचला जबड़ा होता था, लेकिन अब उन्हें एक चेहरा भी मिल गया है। आनुवांशिक डेटा का इस्तेमाल करते हुए वैज्ञानिकों ने अब इन लंबे समय से खोए हुए पूर्वजों का पुनर्निर्माण किया है।इजरायल के जेरूसलम के हिब्रू विश्वविद्यालय के शोध के लेखक लिरान कार्मेल ने कहा, ‘हमने डेनिसोवंस की स्केलेटल (कंकाल) एनाटमी के पहले पुनर्निर्माण को प्रस्तुत किया है।’

कार्मेल ने कहा, ‘कई मायनों में डेनिसोवंस निएंडरथल से मेल खाते थे, लेकिन कुछ लक्षणों में हमसे मेल खाते थे और कुछ मायनों में वे अनूठे थे।’समग्र रूप से शोधकर्ताओं ने 56 एनाटोमिकल फीचर की पहचान की, जिसमें डेनिसोवंस, आधुनिक मानव और निएंडरथल से भिन्न हैं। इसमें से 34 भिन्नताएं खोपड़ी में हैं। इस शोध को जर्नल ‘सेल’ में प्रकाशित किया गया है।न्यूज स्त्रोत आईएएनएस