वैज्ञानिकों ने किया 3डी दिल का आविष्कार,जल्द धड़केगा मानव शरीर में

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- इस स्पेशल प्रोजेक्ट का नेतृत्व प्रोफेसर ताल दविर ने किया है। उन्होंने बताया कि यह पहली बार हुआ है जब 3डी दिल बनाने के लिए मनुष्य की कोशिकाओं और रक्त वाहिकाओं का इस्तेमाल किया है। उन्होंने एक साक्षात्कार के दौरान बताया कि 3डी दिल तो पहले भी बनाया जा चुका है पर ऐसा पहली बार हुआ है, जिसमें मनुष्य की कोशिकाओं और बल्ड सैंपल का उपयोग किया गया है। यह एक बहुत बड़ी सफलता मानी जा रही है। ऐसा पहली बार हुआ है कि किसी टीम द्वारा किये गये शोध में मनुष्य की कोशिकाओं को प्रयोग में लाकर सफल कार्य किया है। आपकों यह जानकर ही हैरानी होगी कि 3डी दिल की तस्वीर सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रही है। यह तस्वीर खरगोश के दिल के समान नजर आ रही है। पर दविर ने कहा कि यह दिल संकुचन तो कर सकता है, लेकिन पूर्ण रूप से पम्पिंग करने में सक्षम नही है।वैज्ञानिकों ने बताया कि इस दिल का इस्तेमाल भविष्य में मानव ट्रांसप्लांट लिए उपयोग में लिया जायेगा।दविर ने एक अन्य सूचना में आशा जताई है कि आने वाले 10 सालों में दुनिया के बेहतरीन अस्पतालों में आॅर्गन प्रिंटर होंगे और ऐसी प्रक्रियाऐं नियमित रूप से हो सकेंगी ।हाल ही में टेल असीव विश्वविद्यालय की टीम ने शोध के माध्यम से 3डी दिल का निर्माण किया है। इसकी खास बात यह है कि इसको बनाने में मनुष्य की कोशिकाओं और रक्त वाहिकाओं का इस्तेमाल किया गया है। आने वाले समय में इसे मानव शरीर में ट्रांसप्लांट करने की बात कही है।वैज्ञानिकों ने बनाया 3डी दिल,जो देगा मनुष्य को नया जीवन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here