विकास का यह कौन सा मॉडल है जिसमें गरीब-झुग्गियां बढ़ते हैं मोदी जी : भूपेश

जनता से रिश्ता वेबडेस्क /  रायपुर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जून को छत्तीसगढ़ आ रहे हैं। वे छत्तीसगढ़ के विकास का गुणगान भी करेंगे और मुख्यमंत्री रमन सिंह की तारीफ भी करेंगे। लेकिन वे छत्तीसगढ़वासियों को यह ज़रूर समझा जाएं कि यह विकास का कौन सा मॉडल है जिसमें पिछले 15 वर्षों में गरीबों और झुग्गियों की संख्या बढ़ गई। आज गरीबी और झुग्गियों के मामले में छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य बन गया है। यह बातें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कही है। उन्होंने कहा कि जब राज्य का निर्माण हुआ था तब राज्य में 37 प्रतिशत ग़रीब थे और अब वे बढ़कर 39.9 प्रतिशत हो गए हैं। यानी इस बीच राज्य में करीब आठ लाख लोग और गरीब होकर गरीबी रेखा के नीचे चले गए। आज छत्तीसगढ़ देश का सबसे गरीब राज्य है, और यह संयोग नहीं है कि इसी प्रदेश में 18 प्रतिशत झुग्गियों के साथ छत्तीसगढ़ शीर्ष पर है। उन्होंने पूछा है कि यह विकास का कैसा मॉडल है जिसमें मुख्यमंत्री रमन सिंह विकास की दर गिनाते हैं, प्रति व्यक्ति आय बढ़ने का आंकड़ा पेश करते हैं लेकिन गरीब और गरीब होता जाता है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को छत्तीसगढ़ की जनता को यह भी समझा कर जाना चाहिए कि यह विकास का कौन सा मॉडल है जिसमें धान के कटोरे का किसान पहली बार आत्महत्या करने पर मजबूर हो गया, क्यों किसानों की संख्या घट गई और मजदूरों की संख्या बढ़ गई ? क्यों शिक्षा का हाल इतना बेहाल हो गया कि सरकार को नौकरी पर रखने योग्य युवा नहीं मिल रहे हैं और राज्य में 50 लाख बेरोज़गार हो गए हैं ? प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवाएं इतनी बेहाल है कि न नसबंदी करवाने वाली माएं सुरक्षित हैं, न आंखों से मोतियाबिंद निकलवाने वाले बुज़ुर्ग, घटिया दवाएं पहचान बन गई है। सरकार अस्पताल का निजीकरण करने पर तुली है और शराब का कारोबार ख़ुद अपने हाथों में ले लिया है। बीमा के पैसों के लिये महिलाओं के गर्भाशय निकालने की घटना छत्तीसगढ़ के लोग भूले नहीं है। उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री रमन सिंह की विकास यात्रा का समापन करने आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ की जनता भी यही कामना कर रही है यह रमन सिंह की विकास यात्रा के नाम पर फर्जीवाड़े का अंतिम पड़ाव साबित हो। अब जनता विकास के नाम पर किए गए भ्रष्टाचार के खिलाफ वोट डालेगी और इसके बाद ही छत्तीसगढ़ में जनता और प्रदेश के विकास की सही यात्रा शुरू होगी।