वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के सामने बड़ी चुनौती, मध्यक्रम बन रहा सिरदर्द

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- अफगानिस्तान के खिलाफ भारतीय ओपनर रोहित शर्मा जल्द आउट हो गए थे। लोकेश राहुल भी ज्यादा नहीं चल सके। ऐसे में कप्तान कोहली के साथ बड़ा स्कोर बनाने की जिम्मेदारी मध्यक्रम पर आ गई थी लेकिन वह कसौटी पर ज्यादा खरा नहीं उतर सकी। दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने भी अफगानिस्तान के खिलाफ मध्यक्रम ऑर्डर की धीमी बल्लेबाजी पर नाखुशी जाहिर की। सचिन ने एक समाचार चैनल से कहा कि केदार जाधव और धोनी के बीच जो साझेदारी हुई, वह काफी धीमी रही।सीनियर धोनी, हार्दिक पंड्या बेहतर भूमिका नहीं बना सके। धोनी का बल्ले से ज्यादा योगदान न दे पाना टीम इंडिया के लिए चिंता का सबब बना है। धोनी ने इस मैच में 52 गेंदों पर 3 चौकों की मदद से 28 रन बनाए। भारत इस मुकाबले में 50 ओवर में 4 विकेट पर 224 रन बना सका, लेकिन उसके गेंदबाजों ने अफगानिस्तानी टीम को 49.5 ओवर में 213 रन पर ऑलआउट कर दिया और विराट कोहली की टीम ने 11 रन से मैच में जीत दर्ज की। भारत के लिए विराट कोहली ने सर्वाधिक 67 रन बनाए। केदार जाधव ने 68 गेंदों पर 3 चौकों और 1 छक्के की मदद से 52 रन की पारी खेली।धोनी 27वें ओवर में जब क्रीज पर आए उस समय दूसरे छोर पर कप्तान कोहली खड़े थे। भारत का अनुमानित स्कोर 294 माना जा रहा था। पर टीम 224 ही बना सकी। 29वें ओवर तक धोनी ने 13 गेंदें खेली थी जिसमें 11 पर रन नहीं बनाया था। कोहली 31वें ओवर में आउट हो गए थे उसके बाद 37 गेंदों तक बाउंड्री नहीं लगी थी।धोनी-जाधव के अलावा विजय शंकर और हार्दिक पांड्या का भी बल्ला खामोश रहा। दोनों ने मिलकर 50 गेंदों में 36 रन बनाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here