लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में तीसरी बार शामिल हुईं ये भारतीय तैराक

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- लंबी दूरी की भारतीय तैराक मीनाक्षी पाहुजा ने तीसरी बार लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराने की अभूतपूर्व उपलब्धि हासिल कर ली है। 42 साल की मीनाक्षी पाहुजा ने लेक कोन्सटेंस को सफलतापूर्वक पार करने के बाद यह उपलब्धि हासिल की। मीनाक्षी पाहुजा ने जर्मनी के फ्रेडरिचशाफीन से स्विटजरलैंड के रोमनशार्न तक 11.6 किमी की दूरी को पांच घंटे 18 मिनट 23 सेकेंड में पूरी किया। उन्होंने 26 जुलाई 2018 को यह उपलब्धि हासिल की थी जिसके लिए उनका नाम लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स से दर्ज किया गया। दिल्ली की मीनाक्षी पाहुजा पहली ऐसी भारतीय तैराक हैं ,जिन्होंने पांच अलग-अलग लेक को पांच दिनों में पार किया है। इनमें लेक बुकानन, इंक्स लेक, लेक एलबीजे, लेक मार्बल फॉल्स और लेक ट्रेविस शामिल हैं। यह सभी लेक अमेरिका के टेक्सास में है।मीनाक्षी पाहुजा ने वर्ष 2010 में टेक्स रार्बटसन हाईलैंड लेक्स चैलेंज ऑस्टिन टेक्सास में तीसरा स्थान हासिल किया था।