रोगों से मुक्ति पाने के लिए अचला सप्तमी पर करें ये उपाय

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- माघ मास के शुक्ल पक्ष की सप्तमी को भगवान भास्कर की जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस दिन पूरे विधि – विधान से सूर्यदेव की पूजा की जाती है, कुछ लोग इस दिन को अचला सप्तमी या रथ सप्तमी के नाम से भी जानते हैं। ये माना जाता है कि जो व्यक्ति इस दिन पूरी श्रद्धा से सूर्यदेव की पूजा करता है उसे सभी सुखों की प्राप्ति होती है और भगवान भास्कर उसकी सभी मनोकामनाओं की पूर्ति करते हैं । आज अचला सप्तमी है और आप सूर्यदेव को जल चढ़ाने के साथ ही कुछ खास उपाय कर सकते हैं। इससे आपको सूर्यदेव से आरोग्य का आर्शीवाद प्राप्त होगा और आप रोगों से दूर रहेंगे। आइए जानते हैं इन उपायों के बारे में ……..

सूर्य को जल अर्पित करने के साथ ही आज इस खास मंत्र का 108 बार जाप अवश्य करें …..

एहि सूर्य सहस्त्रांशो तेजोराशे जगत्पते।
अनुकम्पय मां भक्त्या गृहणाध्र्य दिवाकर।।

अचला सप्तमी पर पूरे दिन व्रत रखें और शाम को बिना नमक वाला भोजन ग्र​हण करें। माना जाता है कि इस व्रत को करने से व्यक्ति को कई प्रकार के रोगों से मुक्ति मिलती है। वहीं भगवान सूर्य की ओर अपना मुख करके सूर्य स्तुति करने से चर्म रोगों से छुटकारा मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here