राहुल गांधी ने कहा -डराने की हो रही कोशिश, मैं खड़ा रहूंगा, लड़ता रहूंगा

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- नोटबंदी के दौरान गुजरात के अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक (एडीसीबी) पर 745 करोड़ रुपये ब्लैकमनी को व्हाइट कराने का आरोप लगाने पर अपने खिलाफ मानहानि के मुकदमे का सामना कर रहे कांग्रेस नेता राहुल गांधी शुक्रवार को कोर्ट में पेश हुए. अहमदाबाद कोर्ट में पेश होने के बाद राहुल गांधी ने नाम लिए बिना भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला.राहुल ने आरोप लगाया कि दबाने और डराने की कोशिश हो रही है. उन्होंने कहा कि मैं इससे नहीं डरता हूं. राहुल ने कहा कि यह संविधान की लड़ाई है. देश के भविष्य की लड़ार्ई है. भ्रष्टाचार और अत्याचार के खिलाफ लड़ाई है. उन्होंने कहा कि मैं खड़ा रहूंगा, लड़ता रहूंगा.

गौरतलब है कि देश में हुई नोटबंदी के दौरान मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष राहुल गांधी और रणदीप सुरजेवाला ने एडीसीबी पर 745 करोड़ रुपये की ब्लैक मनी को व्हाइट करने का आरोप लगाया था. इसके खिलाफ बैंक के चेयरमैन अजय पटेल ने राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराया था.इसी मामले की सुनवाई के दौरान राहुल गांधी शुक्रवार को कोर्ट में पेश हुए. राहुल गांधी ने कोर्ट में जमानत अर्जी दायर की. इसे स्वीकार करते हुए अदालत ने उन्हें 15 हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दे दी. मामले की अगली सुनवाई सात सितंबर को होनी है.बता दें कि कोर्ट ने मामले की पिछली सुनवाई के दौरान राहुल गांधी से 12 मई को अदालत में पेश होने को कहा था, लेकिन वह कोर्ट में पेश नहीं हुए थे. लोकसभा चुनाव के निराशाजनक नतीजों के बाद अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने वाले राहुल गांधी को पिछले आठ दिन में तीसरी बार जमानत मिली है. इससे पहले वह अलग-अलग मामलों में मुंबई और पटना की अदालत में पेश हुए थे.