राजस्थान राज्य सरकार ने 800 भेड़ डूबने के बाद मुआवजे की घोषणा की, मिलेगा 50 लाख

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- जयपुर: राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले में मंगलवार को भारी बारिश के कारण एक तालाब में डूबने से बड़ी संख्या में भेड़ों की मौत हो गयी. जिसके बाद गहलोत सरकार ने भेड़पालकों को कुल मिलाकर 50 लाख रुपये तक का मुआवजा देने की घोषणा की है.सरकारी बयान के अनुसार, भारी बारिश के कारण 800 भेड़ों की तालाब में डूबने से मौत हो गयी. जिसके बाद सीएम अशोक गहलोत ने प्रभावित भेड़ पालकों को केन्द्र सरकार की ओर से पशुधन हानि पर देय सहायता राशि से अधिक मुआवजा देने की घोषणा की है.उन्होंने प्रत्येक भेड़ पालक को अधिकतम 60 भेड़ों तक प्रति भेड़ 6000 रुपये की सहायता देने के निर्देश दिए. कुल मिलाकर यह मुआवजा राशि लगभग 50 लाख रुपये होगी.इसके अनुसार गहलोत ने भेड़ पालकों की कमजोर आर्थिक स्थिति को देखते हुए उन्हें संबल प्रदान करने के लिए उनको भारत सरकार के एसडीआरएफ दिशा-निर्देशों के अनुसार देय सहायता राशि से अधिक मुआवजा देने का निर्णय किया है. उन्होंने चित्तौड़गढ़ जिला क्लेक्टर को निर्देश दिए कि सहायता राशि जल्द से जल्द संबंधित भेड़ पालकों को हस्तांतरित करने की व्यवस्था की जाए.उल्लेखनीय है कि एसडीआरएफ दिशा-निर्देशों के अनुसार आपदा राहत के रूप में लघु एवं सीमांत किसानों को अधिकतम 30 छोटे पशुओं के लिए प्रति पशु 3000 रुपये सहायता देय है. लेकिन मुख्यमंत्री ने इस प्रकरण में अधिकतम पशु संख्या 30 के स्थान पर 60 और मुआवजा राशि 3000 रुपये प्रति पशु से बढ़ाकर 6000 रुपये कर दी है.