राजधानी में चल रहा हैं स्पा सेंटर के नाम पर जिस्म फरोशी का धंधा

जनता से रिश्ता वेबडेस्क
असम, गुवाहाटी, दार्जलिंग और दिल्ली, पश्चिम बंगाल के साथ विदेश से भी बुलाई जाती हैं लड़कियां
लोकेंटों वेबसाइट में व्यक्तिगत काल गर्ल के विज्ञापन रायपुर भिलाई कुम्हारी, मोबाइल-वाट्सएप में आते है मेसेस बिलासपुर में उपलब्ध
रायपुर। राजधानी के बस स्टैंड के एक स्पा सेंटर में छापा मारकर पुलिस को खुश नहीं होना चाहिए। राजधानी के बड़े-छोटे होटलों में स्पा के नाम पर इस तरह काले धंधे कारोबार चल रहा है। टाटीबंध, मोहबा बाजार, जीईरोड, जेल रोड, फाफाडीह, स्टेशन रोड, समता कालोनी में स्पा संचालित हो रहे जहां देशी और विदेशी लड़कियां स्पा विशेषज्ञ के रूप में काम कर रही है। जो अपने संपर्क से दूसरी लड़कियों को यहां बुलाती है और जिस्मफरोशी के धंधे में ढकेल देती है। पुलिस के पास इन आने जाने वाली देशी और विदेशी महिलाओं के रिकार्ड भी उपलब्ध नहीं है।
सरकार गाइड लाइन बनाए
सरकार को चाहिए की स्पा सेंटर संचालित करने के लिए कौन-कौन से मापदंडों को फलो करना है। स्पा सेंटर खासकर महिलाओं के सौंदर्य निखार, साज-सज्जा या थकान उतारने मसाज तक ही सीमित रहे उसका जिस्मफरोशी के रूप में रूपांतरण न हो। सरकार को चाहिए कि इस प्रकार के स्पा का पंजीयन किस तरह के व्यवसाय के रूप में हुआ है उसकी भी जांच करें। इसकी एक निगरानी समिति गठित करें जो इनके काम पर नजर रख सके।
बड़े होटलों में चल रहा है स्पा सेंटर
राजधानी के सभी बड़े होटलों में स्पा सेटंर संचालित हो रहे है। जिसका कोई पंजीयन नहीं है। देश विदेश से सौंदर्य विशेषज्ञ अपनी सेवाएं दे रहे है। इस होटलों में ठहरने वाले कस्टमर पहले इंक्यारी कर लेते है कि आपके होटल में स्पा सेंटर है कि नहीं। उनके दलाल रायपुर आने वाले सभी कस्टमरों को अपने होटलों की विशेषता से अवगत कराते हुए होटलों की बुकिंग करते है। स्पा सेंटर वाले थ्री स्टार होटलों में ही ज्यादातर देशी और विदेशी कस्टमर ठहरते है। जिन होटलों में ये सुविधा नहीं वहां नाम के कस्टमर ही ठहरते है।
बेवसाइड पर खुला आफर
लोकेंटों वेबसाइट में व्यक्तिगत काल गर्ल के विज्ञापन रायपुर भिलाई कुम्हारी, बिलासपुर में उपलब्ध हैं मोबाइल वाट्सएप के साथ चलते है, इस तरह अनेक वेबसाइट हो जो स्पा सेंटर वाले होटलों से जुड़े है जो अपने कस्टमर को सुविधा देते है। लोकेंटो तो खुला ऑफर देते हुए कस्टमर को पूरी तरह संतुष्टि की गारंटी भी देता है।
सभी होटलों में करें कार्रवाई
सिविल लाइंस पुलिस को श्याम प्लाजा के स्पा सेंटर में छापा मार कर खुश नहीं होना चाहिए दूसरे सभी बड़े स्पा सेंटर में भी दबिश देनी चाहिए। जिससे इस तरह जिस्मफरोशी के धंधे से राजधानी का नाम बदनाम होने से बच जाए। छापा मारकर चार युवतियों को गिरफ्तार किया। युवतियां असम, गुवाहाटी, दार्जलिंग और दिल्ली पश्चिम की रहने वाली हैं। पुलिस को स्पा सेंटर में सेक्स रैकेट चलने के प्रमाण मिलने के बाद मैनेजर अंकज सिंह और एक ग्राहक को गिरफ्तार किया। युवतियों के पास मिले पैसे भी जब्त कर लिए हैं।
ैपुष्टि के बाद प्लानिंग से छापा मारा
स्पा सेंटर संचालक सुनील छापे के समय मौजूद नहीं था। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी के लिए घर पर छापेमारी नहीं की अलबत्ता युवतियों और मैनेजर के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ इम्मोरल ट्रैफिकिंग एक्ट (पीटा) के तहत कार्रवाई कर दी। युवतियों को महिला थाने में रखा गया है। शुक्रवार को उन्हें न्यायालय में पेश किया।
प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि युवतियां अलग-अलग इलाकों की है। उन्हें सुनील ने अपने संपर्कों के माध्यम से उन्हें बुलवाया। पुलिस को पिछले कुछ दिनों से स्पा सेंटर में सेक्स रैकेट चलने की शिकायत लगातार मिल रही थी। पुलिस ने शुक्रवार को शिकायत की पुष्टि के बाद वहां प्लानिंग से छापा मारा।
आपत्तिजनक चीजों के साथ 8 मोबाइल जब्त
सेंटर से कुछ आपत्तिजनक चीजों के अलावा लैपटॉप और 8 मोबाइल फोन जब्त किए गए हैं। पुलिस अफसरों के अनुसार लैपटॉप में बुकिंग कराने वाले ग्राहकों का ब्योरा है। उसका परीक्षण कराया जा रहा है। युवतियां कब से यहां आ रही हैं और कहां रहती हैं? इस बारे में जानकारी निकाली जा रही है।
जानकारी निकलवाई जा रही
पुलिस के आला अफसरों का कहना है कि शहर के कुछ और सेंटरों के बारे में लगातार शिकायतें मिल रही हैं। उन सेंटरों के बारे में जानकारी निकलवाई जा रही है। शिकायत की पुष्टि के लिए पुलिस का फार्मूला अपनाया जा रहा है, जहां-जहां भी सेक्स रैकेट चलने के संकेत मिलेंगें वहां कभी भी छापा मारा जाएगा।
ज्यादातर सेंटरों में असम और दार्जलिंग इलाके की युवतियां ही हैं। सिटी एसपी प्रफुल्ल ठाकुर का कहना है कि उनके पास कुछ और सेंटरों के बारे में लिखित और मौखिक शिकायत है। उनके संबंध में जांच करवाई जा रही है।
सामान्य लोगों की तरह सेंटर में घुसा
स्पा सेंटर में छापा मारने के लिए पुष्टि करना जरूरी था। पुलिस ने शिकायत की पुष्टि करने के लिए अपने जासूस को ग्राहक बनाकर भेजा। वह सामान्य लोगों की तरह सेंटर में घुसा। उसने पहले सेंटर में मसाज करवाने की फीस अदा की। वहां बातचीत के दौरान ही सेक्स रैकेट का संकेत मिल गया। उसने उसी समय पुलिस के आला अफसरों को सूचना दी। उस समय सेंटर में एक ग्राहक मौजूद था। पुलिस की एक टीम सेंटर के आस-पास मौजूद थी। प्वाइंटर का इशारा पाते ही टीम सेंटर में घुसी और मैनेजर और ग्राहक को गिरफ्तार कर लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here