मोदी सरकार ने नई रक्षा अंतरिक्ष एजेंसी की व्यापक रूपरेखा तैयार की,

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :-नई दिल्ली: सरकार ने एक नई रक्षा अंतरिक्ष एजेंसी की व्यापक रूपरेखा को अंतिम रूप दे दिया है जो बाहरी अंतरिक्ष में भारत के हितों की रक्षा के लिए क्षमता विकास करेगी और अंतरिक्ष में युद्ध के खतरों से निपटेगी. आधिकारिक सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. सूत्रों ने बताया कि एजेंसी को अंतरिक्ष में भारतीय परिसपंत्तियों की रक्षा के लिए प्लेटफॉर्म तथा सह-कक्षीय शस्त्र विकसित करने का काम सौंपा जाएगा.सूत्रों के अनुसार सरकार बाहरी अंतरिक्ष के इस्तेमाल के सैन्य आयाम से संबंधित अनुसंधान और विकास के लिए एक रक्षा अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन की स्थापना की भी योजना बना रही है. रक्षा अंतरिक्ष एजेंसी की स्थापना के फैसले से दो महीने पहले ही सरकार ने अंतरिक्ष में एक उपग्रह को मार गिराकर सफल उपग्रह रोधी परीक्षण किया था. इस परीक्षण के साथ भारत उन देशों के समूह में शामिल हो गया था जिनके पास उपग्रह को मार गिराने की क्षमता है.एक वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने कहा, ‘‘रक्षा अंतरिक्ष एजेंसी अंतरिक्ष के खतरों से निपटने समेत बाहरी अंतरिक्ष में भारत के हितों की रक्षा के लिए रणनीति बनाएगी.’’ सूत्रों के अनुसार रक्षा अंतरिक्ष एजेंसी के गठन पर पिछली सरकार में सुरक्षा पर कैबिनेट समिति की एक बैठक में चर्चा की गयी थी. अप्रैल में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार की अध्यक्षता में रक्षा योजना समिति की बैठक में इस संबंध में विस्तार से चर्चा की गयी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here