महिलाएं सखी वन स्टॉप सेंटर में आकर बेझिझक मदद लें : महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेंड़िया

????????????????????????????????????

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया ने आज यहां राजधानी रायपुर के कालीबाड़ी स्थित जिला अस्पताल परिसर में संचालित सखी वन स्टॉप सेंटर का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने सखी सेंटर में महिलाओं को दी जाने वाली विभिन्न सेवाओं और यहां प्राप्त मामलों के निराकरण की जानकारी ली। उन्होंने इस केन्द्र के उत्कृष्ट कार्य करने वाले कर्मचारियों को प्रतीक चिन्ह और चेक प्रदान कर पुरस्कृत भी किया।

श्रीमती भेंड़िया ने कहा कि सखी वन स्टॉप सेंटर पीड़ित और जरूरतमंद महिलाओं को एक छत के नीचे तत्काल सहायता पहुंचाने का एक सुलभ माध्यम है इसके माध्यम से प्रदेश की महिलाएं अपने विरूद्ध हो रहे अत्याचार के विरोध में खुलकर सामने आने की हिम्मत कर रही हैं। उन्होंने प्रदेश की महिलाओं से अपील की है कि बेझिझक सखी वन स्टॉप सेंटर आकर मदद लें साथ ही अधिकारियों को मामलों के त्वरित निपटारे के निर्देश दिए।

महिला बाल विकास विभाग की आयुक्त सह सचिव डॉ.एम.गीता ने बताया कि जुलाई 2015 में रायपुर में देश के पहले सखी वन स्टॉप सेंटर की स्थापना की गई थी। इस सेंटर को उत्कृष्ट कार्य के लिए वर्ष 2017 के नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजा गया है। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ देश का प्रथम ऐसा राज्य है जिसके प्रत्येक जिले में सखी वन स्टॉप सेंटर संचालित है। इन सेंटरों में सभी वर्ग, धर्म, संप्रदाय की महिलाओं को एक छत के नीचे उनकी जरूरत के अनुसार चिकित्सा, विधिक सहायता, मनोवैज्ञानिक सलाह, पुलिस सहायता, अस्थायी आश्रय, मानसिक चिकित्सा और परामर्श की सुविधा दी जा रही है।

उन्होंने बताया कि रायपुर स्थित सखी वन स्टॉप सेंटर में अब तक लगभग 2 हजार 901 मामले दर्ज किये गए हैं। इनमें से एक हजार 536 प्रकरणों का निराकरण किया जा चुका है। साथ ही 871 महिलाओं को आश्रय प्रदान किया गया है। इस अवसर पर महिला बाल विकास विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों सहित सखी वन स्टॉप सेंटर के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here