बालोद : महिला एवं बाल विकास मंत्री शामिल हुई वजन त्यौहार जागरूकता कार्यशाला में

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :– प्रदेश की महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री श्रीमती अनिला भेंडि़या आज विकासखण्ड मुख्यालय डौण्डीलोहारा में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित वजन त्यौहार जागरूकता कार्यशाला में शामिल हुई। मंत्री श्रीमती भेंडि़या मुख्य अतिथि की आसंदी से कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि कुपोषण की स्थिति का सही आंकलन एवं पोषण स्तर ज्ञात करने वजन त्यौहार आवश्यक है। प्रदेश में कल 11 फरवरी से 20 फरवरी 2019 तक पॉच वर्ष से कम आयु के बच्चों का पोषण स्तर अंाकलन करने वजन त्यौहार आयोजित किया जा रहा है।
मंत्री श्रीमती भेंडि़या ने कहा कि वजन त्यौहार से दुर्बल एवं निःशक्त बच्चों की पहचान की जाती है। उन्होंने कहा कि महतारी जतन योजना के अंतर्गत गर्भवती माताओं को शासन की योजना का लाभ दिलाएॅ ताकि सुपोषित एवं स्वस्थ बच्चा पैदा हो। अंागनबाड़ी केन्द्रों के बच्चों को शतप्रतिशत टीकाकरण, विटामिन-ए का खुराक तथा स्वच्छ पेयजल से लाभान्वित कर कुपोषण में कमी लाने का प्रयास किया जाए। मंत्री श्रीमती भेंडि़या ने महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों से कहा कि वे जिम्मेदारीपूर्वक अपने दायित्वों का निर्वहन करें और कुपोषित बच्चों को कुपोषण से बाहर लाएॅ।
महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों ने कार्यशाला में बताया कि मुख्यमंत्री बाल संदर्भ योजना के अंतर्गत गंभीर कुपोषित बच्चों का चिन्हांकन कर स्वास्थ्य शिविरों के माध्यम से लाभान्वित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री अमृत दूध योजना के अंतर्गत आंगनबाड़ी केन्द्रों में दर्ज तीन से छह वर्ष तक के बच्चों को प्रत्येक बुधवार को सुंगधित मीठा दूध प्रदाय किया जा रहा है। पोषण पुर्नवास केन्द्र में अति गंभीर कुपोषित बच्चों को कुपोषण से बाहर लाने के लिए जिले में संचालित दो पोषण पुर्नवास केन्द्र से इस वित्तीय वर्ष में 189 बच्चों को लाभान्वित किया गया। महतारी जतन योजना के अंतर्गत लगभग 6515 गर्भवती महिलाओं को लाभान्वित किया जा चुका है। इस अवसर पर जनपद पंचायत अध्यक्ष श्रीमती चन्द्रप्रभा सुधाकर, जिला पंचायत सदस्य श्री अभिषेक शुक्ला, नगर पंचायत अध्यक्ष श्री प्रेम भंसाली सहित गणमान्य नागरिक, महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री आर.के.जाम्बुलकर, जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री सी.एस.मिश्रा सहित परियोजना अधिकारी, सुपरवाईजर और आंगनबाड़ी कार्यकर्ता आदि उपस्थित थे।