बहुचर्चित नान घोटाले के मुख्य आरोपी शिव शंकर भट्ट की जमानत याचिका खारिज

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-  रायपुर। बहुचर्चित नान घोटाले के मुख्य आरोपी शिव शंकर भट्ट की जमानत याचिका खारिज हो गई है. सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देशानुसार भट्ट ने रायपुर कोर्ट में जमानत की याचिका लगाई थी.जमानत याचिका फर्स्ट एडीजे लीना अग्रवाल के कोर्ट में लगी थी। नान घोटाला में एक अन्य आरोपी भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी अनिल टुटेजा को अदालत ने पहले ही अग्रिम जमानत दे दी है। बता दें कि नान मामले में 12 फरवरी 2015 को एफआईआर दर्ज की गई थी। एंटी करप्शन ब्यूरो और आर्थिक अपराध शाखा ने राज्य में नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों और कर्मचारियों के 28 ठिकानों पर छापा मारकर करोड़ों रुपए बरामद किए थे। इस मामले में दो आईएएस अफसर समेत 18 अधिकारियों-कर्मचारियों पर मामला दर्ज किया गया था। कई अधिकारी और कर्मचारी गिरफ्तार भी किए गए थे। बता दें कि मामले में अभी तक 118 गवाहियां हो चुकी है। अभी तक किसी भी गवाह ने नान में खराब क्वालिटी का चावल उपार्जन करने या अवैध लेन-देन की बात नहीं कही है।

घोटाले और आय से अधिक संपत्ति में जेल में बंद 

शिवशंकर भट्ट के खिलाफ दो और मामले कोर्ट में विचाराधीन है। वह नान घोटाले में रायपुर केंद्र जेल में बंद था। इसके अलावा उसके ऊपर आय से अधिक संपत्ति का मामला भी चल रहा है। जांच के दौरान उसके पास से अधिक संपत्ति मिली है। वह उसका हिसाब नहीं दे पाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here