प्रदेश के आंगनबाड़ी केन्द्रों को अधिक सुविधाजनक बनाने की कवायद – महिला एवं बाल विकास मंत्री ने दिए निर्देश

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया ने प्रदेश में संचालित आंगनबाड़ी केंद्रों को और भी अधिक सुविधाजनक बनाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने हाल ही में यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में आयोजित विभागीय समीक्षा बैठक में अधिकारियों को इस संबंध में निर्देश दिए। श्रीमती भेंड़िया ने आंगनबाड़ी भवनों में शौचालय, बिजली और पानी की व्यवस्था सहित पूरक पोषण आहार के संबंध में जानकारी ली और अधिकारियों को संचालित सभी आंगनबाड़ी भवनों में शौचालय की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। साथ ही सभी आंगनबाड़ी भवनों में बिजली और पानी का समुचित प्रबंध करने के लिए कहा। अधिकारियों ने बैठक में बताया कि प्रदेश में 52 हजार 474 आंगनबाड़ी और मिनी आंगनबाड़ी केंद्र संचालित हैं। इनमें 6 माह से 6 साल तक के लगभग 19 लाख 60 हजार बच्चे और लगभग 4 लाख 51 हजार गर्भवती और शिशुवती महिलाएं विभिन्न योजनाओं के तहत लाभान्वित हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में लगभग 35 हजार 97 आंगनबाड़ी केन्द्र स्वयं के भवनों में संचालित है।

श्रीमती भेंडिया ने अधिकारियों से कहा कि आंगनबाड़ी भवनों में छोटे बच्चे और गर्भवती और शिशुवती महिलाएं आती हैं, इनके पोषण, स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए अतिरिक्त सतर्कता बरतने की जरूरत है, क्योंकि वे संक्रमण से जल्दी प्रभावित होते हैं। व्यवस्थाओं में सुधार लाने के लिए उन्होंने अधिकारियों को आंगनबाड़ी केंद्रों की नियमित मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पोषण आहार की गुणवत्ता में समझौता न किया जाए तथा रोज गर्म और ताजा भोजन महिलाओं और बच्चों को दिया जाए। उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्रों में बच्चों को दिए जाने वाले मीठे सुगंधित दूध को संक्रमण से बचाने के लिए परिवहन और संग्रहण के उचित प्रबंध करने के निर्देश भी दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here