निवेशकों (एफपीआई) ने जून महीने में अब तक घरेलू पूंजी बाजार में 11,132 करोड़ रुपये डाले

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने जून महीने में अब तक घरेलू पूंजी बाजार में 11,132 करोड़ रुपये डाले हैं। डिपॉजिटरी के आंकड़ों में यह जानकारी दी गई है। तीन से 14 जून के दौरान एफपीआई ने शेयरों में शुद्ध रूप से 1,517.12 करोड़ रुपये तथा ऋण या बांड बाजार में 9,615.64 करोड़ रुपये डाले हैं। ग्रो के सीओओ हर्ष जैन ने कहा कि एनडीए सरकार के दोबारा सत्ता में आने के बाद बॉन्ड बाजार में प्रवाह मजबूत बना हुआ है। इसके अलावा डॉलर के मुकाबले रुपये में स्थिरता से ऋण खंड में प्रवाह बढ़ा है। इससे पहले एफपीआई ने मई में भारतीय पूंजी बाजार (शेयर और बांड) में शुद्ध रूप से 9,031.15 करोड़ रुपये, अप्रैल में 16,093 करोड़ रुपये, मार्च में 45,981 करोड़ रुपये और फरवरी में 11,182 करोड़ रुपये का निवेश किया था।

विदेशी मुद्रा भंडार रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के करीब
देश का विदेशी मुद्रा भंडार सात जून को समाप्त सप्ताह में 1.68 अरब डॉलर बढ़कर अब तक  रिकॉर्ड स्तर के करीब 423.55 अरब डॉलर पर पहुंच गया। इससे पहले 31 मई को समाप्त सप्ताह में यह 1.87 अरब डॉलर बढ़कर 421.86 अरब डॉलर रहा था। पिछले वर्ष 2० अप्रैल को समाप्त सप्ताह में यह 423.58 अरब डॉलर पर रहा था।रिजर्व बैंक द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, सात जून को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार का सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति 1.66 अरब डॉलर बढ़कर 395.8० अरब डॉलर पर पहुँच गया। इस दौरान स्वर्ण भंडार 22.95 अरब डॉलर पर स्थिर रहा। आलोच्य सप्ताह में अंतरार्ष्ट्रीय मुद्रा कोष के पास आरक्षित निधि 1.4 करोड़ डॉलर बढ़कर 3.34 अरब डॉलर और विशेष आहरण अधिकार 61 लाख डॉलर बढ़कर एक अरब 44 करोड़ 91 लाख डॉलर पर रहा।