निरहुआ ने कहा : मुझे हराने वाला पैदा नहीं हुआ, ईश्वर का लिखा मिटा सकता हूं

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-  भोजपुरी स्टार और आजमगढ़ से बीजेपी के लोकसभा उम्मीदवार दिनेश लाल यादव यानी निरहुआ, पूर्वी उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी का जमकर प्रचार कर रहे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह निरहुआ भी अपने एक इंटरव्यू के बाद काफी सुर्खियों में चल रहे हैं. दरअसल, एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में एंकर ने उनसे सवाल पूछा था, मुंबई में रहने वाले निरहुआ चुनाव हार गए तो क्या वो आजमगढ़ दोबारा जाएंगे या फिर वापस फिल्मी दुनिया में चले जाएंगे? निरहुआ ने कहा था, “सबसे पहले तो आपसे मैं ये बताता हूं कि मुझे हराने वाला कोई पैदा नहीं हुआ क्योंकि मैं स्वतंत्र आदमी हूं. मेरी विचारधारा स्वतंत्र है. किसी का गुलाम नहीं हूं.”इसके बाद निरहुआ ने रामधारी सिंह दिनकर की कविता गुनगुनाई और कहा,”मैं ईश्वर के लिखे लेख को भी हटा सकता हूं, मिटा सकता हूं. अगर मैं अपनी सोच रखता हूं, विचार रखता हूं. मैं यहां किसी के पीछे घूमने वाला इंसान नहीं हूं. ये भूल जाइए कि मुझे यहां कोई हरा पाएगा.”निरहुआ के जवाब पर एंकर ने काफी हैरानी जताई थी और कहा था कि इससे लगता है कि आपमें बहुत अहंकार है. आप कहते हैं कि मुझे हराने वाला कोई पैदा नहीं हुआ. ईश्वर के लिखे को आप मिटा सकते हैं. मुझे लगता है कि आप अकेले नेता हैं जो इस तरह के दावे कर रहे हैं.

इस पर निरहुआ ने कहा था, “ये अहंकार नहीं है. मैं ये कह रहा हूं कि अगर मैं सच के साथ हूं, धर्म के साथ हूं तो ये असत्य लोग जो देश को लूट रहे हैं ये मुझे नहीं हरा पाएंगे. क्योंकि मैं सच के साथ हूं.”एंकर ने एक बार फिर निरहुआ से इस मसले पर सवाल किया. उन्होंने कहा कि निरहुआ आप कह रहे हैं कि मुझे हराने वाला कोई पैदा नहीं हुआ. आपने राजनीति में नई एंट्री ली है. आप अपना पहला चुनाव लड़ रहे हैं और आप कह रहे हैं कि कोई आपको हरा नहीं सकता है इस पर निरहुआ ने कहा था, “मैं ऐसा इसीलिए बोल रहा हूं क्योंकि मैं जानता हूं कि मुझे हराने वाला उस दिन पैदा हो जाएगा जिस दिन मैं अधर्म का साथ निभाने लगूंगा. मैं झूठ और गलत का साथ निभाने लगूंगा. मैं उसी दिन हार जाऊंगा.” निरहुआ ने कहा था, “ये जो जनता चाहती है कि पीएम मोदी जी फिर से इस देश के पीएम बने तो कोई नहीं हरा पाएगा मुझे क्योंकि मैं उनकी विचारधारा के साथ चल रहा हूं और जिस दिन मैं जनता के विरोध में जाऊंगा, जनता जो चाहेगी उसके विपरीत जाऊंगा तो हार जाऊंगा.”

एंकर ने उनसे एक बार फिर सवाल किया कि आपने कहा कि आप ईश्वर के लिखे लेख को भी मिटा सकते हैं तो आप ईश्वर से भी ऊपर हो गए हैं ? निरहुआ ने कहा, “नहीं. ऐसा नहीं है. मैं तो ये कह रहा हूं कि ये रामधारी सिंह दिनकर जी की लिखी कविता है और ये मैंने नहीं लिखी है.”गौरतलब है कि आजमगढ़ से सपा के अखिलेश यादव के खिलाफ निरहुआ के उतरने के बाद इस सीट को हाईप्रोफाइल माना जाने लगा है. आजमगढ़ में चुनाव हो चुके हैं.हाल ही में निरहुआ की फिल्म जय वीरू का ट्रेलर भी रिलीज़ हुआ है. इस फिल्म में एक बार फिर निरहुआ के साथ आम्रपाली दुबे की जोड़ी देखने को मिलेगी.लोकसभा चुनाव के बाद रिलीज होने वाली ये निरहुआ की पहली फिल्म है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here