धरती गोल है यह बताने के लिए माउंट एवरेस्ट के कोने से ली सेल्फी, देखिये तस्वीर

Hits: 15

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- बचपन से हमें यही पता है कि धरती फुट बॉल कि तरह से गोल है लेकिन विज्ञान कहता है कि धरती गोल ना होने के बजाये ये अंडाकार है। अपनी धुरी पर सूरज के चारों ओर चक्कर लगाती रहती है। यह हम ये भी जानते है कि पृथ्वी के घूर्णन से ही दिन और रात होते हैं और ऋतुए बदलती हैं। लेकिन इस धरती पर कुछ लोग यह मानते है कि धरती गोल नहीं बल्कि चपटी है। ये सुनकर आपको भी झटका लगा होगा कि ये कैसे मुमकिन हो सकता है। जैसा कि हम जानते है कि धरती की संरचना को लेकर एक अर्से से विवाद चल रहा है। दुनिया के कुछ लोग मानते है कि पृथ्वि गोल नहीं बल्कि एकदम सपाट है,

जैसे कोई आयताकार चपटा मैदान लेकिन बता दे कि दुनिया भर के भूगोल विज्ञानी इस बात से सहमत नहीं है। इस बात के लिए लोगों ने अपना एक संगठन बना लिया है। फ्लैट अर्थ सोसाइटी नामक यह संगठन यही मानता है कि धरती चपटी है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इन लोगों की विचारधारा के आधार पर ये दूसरे वैज्ञानिक तथ्यों को भी नहीं मानते हैं। इस बात को तो आप भी मानते है कि ज़िद बुरी औऱ तर्करहित हो तो फिर वह बर्बादी की कगार पर ले जाती है।

इन लोगों की इसी बेकार ज़िद को दुनिया के सामने गलत साबित करने के लिए एक जुनूनी बंदे ने संसार की सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट एवरेस्ट पर जाकर सेल्फी ली और यह कहा कि यहां से साबित होता है कि धरती पूरी तरह गोल है सपाट नहीं है। आपको यकिन नहीं होगा कि एक शख्स ने इन लोगों को सच का आईना दिखाने के लिए माउंट एवरेस्ट के उस कोने पर चढ़ गया जहां से पृथ्वी की गोलाई साफ तौर पर दिखाई देती है और 8,848 मीटर की ऊंचाई पर जाकर सेल्फी भी ली है। जो इस बात को साबित कर देता है कि धरती गोल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here