दुर्ग संभाग में पुलिस की स्पेशल इनवेस्टिगेशन यूनिट भंग, क्राइम ब्रांच को किया था भंग

जनता से रिश्ता वेबडेस्क
भिलाई। क्राइम ब्रांच के बाद अब स्पेशल इनवेस्टिगेशन यूनिट (एसआईयू) को भी भंग कर दिया गया है। डीजीपी के आदेश पर राजनांदगांव, कबीरधाम, बालोद, बेमेतरा और दुर्ग मे संलग्र पुलिस अफसरों और कर्मचारियों को उनकी मूल इकाई में लौटा दिया गया। इसमें करीब 27 पुलिस अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं।
मूल इकाई में लौटा दिया-छत्तीसगढ़ के नए पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दुर्गेश माधव अवस्थी के आदेश के बाद शुक्रवार को दुर्ग रेंज पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी ने विशेष अनुसंधान सेल (एसआईयू) यूनिट में संलग्र पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को उनके मूल इकाई में लौटा दिया। सालों से आर्थिक मामलों की जांच के लिए गठित (एसआईयू) में तैनात पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को उनके मूल इकाई में भेजा जा रहा है। आईजी को तत्काल प्रभाव से क्राइम ब्रांच और एसआईयू में संलग्र पुलिस जवानों को मूल पदस्थापना स्थल पर लौटकर आमद देने को कहा है। आईजी रतन लाल डांगी ने बताया कि पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को उनके मूल स्थान पर लौटा दिया गया है। इसके अलावा जो भी अटैचमेंट पर उन्हें उनके मूल इकाई में भेजा जा रहा है। अब जमीन से संबंधित मामलों का निराकरण थाना से ही किया जाएगा। आरोप जमीन विवाद सुलझाने को बनी एसआइयू करने लगी सेटलमेंट-0 थानों में जमीन से जुड़े विवादों की शिकायतें सालों जांच के नाम पर अटकी थीं। इस वजह से एसआईयू गठित की गई, लेकिन उसके खिलाफ जमीन के खास मामलों में जांच के बदले सेटलमेंट किए जाने की शिकायतें आ रहीं थी। एसआईयू में मामला आते ही सेटलमेंट करने के लिए मजबूर किया जाता था। कई शिकायतें में लोगों ने परिवार के सदस्यों को भी परेशान करने और ब्लैकमेल करने की बात कही।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here