दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता हुई खतरनाक, बारिश होने से मिल सकती है राहत

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- दिल्ली की वायु गुणवत्ता शनिवार को हवा की धीमी रफ्तार के चलते ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई जबकि अधिकारियों ने अगले दो दिनों में बारिश होने का अनुमान जताया है. इससे प्रदूषण का स्तर घटने की संभावना है.केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के मुताबिक शहर का कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक 423 था जो ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है. सीपीसीबी ने बताया कि 24 इलाकों में हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ दर्ज की गई जबकि सात में यह ‘बेहद खराब’ रही. दिल्ली के अलावा एनसीआर के गाजियाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ दर्ज की गई है.

सीपीसीबी के मुताबिक, हवा में अतिसूक्ष्म कणों पीएम 2.5 का स्तर 287 जबकि पीएम 10 का स्तर 443 दर्ज किया गया. केंद्र संचालित वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (सफर) ने कहा कि अगले दो दिनों में हल्की बारिश होने की संभावना है जिससे वायु गुणवत्ता सुधर सकती है.

सफर ने कहा, “अगर बारिश नहीं होती है तो अगले तीन दिनों में छोटे-मोटे उतार-चढ़ाव के साथ कुल वायु गुणवत्ता और खराब हो सकती है. अन्य मौसमी स्थितियां भी अनुकूल नहीं हैं. हालांकि कोहरे की स्थितियों के अब छंटने की संभावना है.” ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंचने से पहले शुक्रवार को हवा की गुणवत्ता ‘बेहद खराब’ रही. हवा की तेज गति की वजह से हवा कुछ साफ हुई थी और बुधवार और बृहस्पतिवार को वायु गुणवत्ता ‘खराब’ श्रेणी में थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here