त्रिफला खाने के फायदे जानिए

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-  शरीर के रोगों का अगर पूरी तरह आयुर्वेदिक उपचार किया जाए तो इससे रोग बहुत ही जड़ से खत्म हो जाता है साथ इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं होता। त्रिफला पाउडर ऐसे ही तीन हब्र्स को मिलाकर बना है जो शरीर को निरोग बनाने में बहुत मदद करते हैं।

आपको जानकर यह आश्चर्य होगा कि आयुर्वेदिक दवाओं की किताब, चरक संहिता में सबसे पहले अध्याय में ही त्रिफला के बारे में ही उल्लेख किया गया है। आइए जानें, यह किस तरह शरीर के रोगों से लडऩे में बहुत कारगार साबित होता है.

पेट के कीड़ो को खत्म करने में त्रिफला पाउडर खाने से आराम मिलता है। यदि शरीर में रिंगवॉर्म या टेपवॉर्म हो जाते हैं तो भी त्रिफला कारगर है। त्रिफला, शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ावा देता है, जो कि किसी भी संक्रमण से लडऩे में सक्षम होती हैं।

त्रिफला, सांस संबंधी रोगों में लाभदायक है और इसका नियमित सेवन करने से सांस लेने में होने वाली असुविधा भी दूर हो जाती है।

एक अध्ययन में पता चला है कि त्रिफला से कैंसर का इलाज संभव है और इसमें एंटी-कैंसर तत्व पाए गए हैं।
यदि किसी आपको को सिरदर्द की समस्या ज्यादा रहती है तो डॉक्टर की सलाह लेकर त्रिफला का नियमित सेवन करना सिरदर्द को कम करने में मददगार होता है।

डायबिटीज के उपचार में त्रिफला बहुत प्रभावी है। यह पेनक्रियाज को उत्तेजित करने में मदद करता है, जिससे इंसुलिन पैदा होता है। पाचन समस्याओं को दूर करने में त्रिफला सबसे कारगर दवा है। आंत से जुड़ी समस्याओं में भी इसे खाने से काफी राहत मिलती है।

अगर आपके शरीर में खून की कमी हो गई है तो इसका सेवन करने से इस समस्या से भी निजात पाई जा सकती है।
मोटापा कम करने के लिए त्रिफला से बेहतर कोई दवा नहीं हैं।

त्रिफला में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कि सेल्स के मेटाबॉलिज्म को नियमित रखते हैं। त्रिफला, शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है, जिससे शरीर को बीमारियों से लडऩे की शक्ति मिलती है।