तेलंगाना चुनाव: असदुद्दीन ओवैसी ओवैसी ने कहा- बीजेपी वाले भारत में लाना चाहते हैं ‘RSS राज’

Hits: 10

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :-   हैदराबाद : अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर एक बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी भारत को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) राज में बदलने की कोशिश कर रही है। यही नहीं, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर असदुद्दीन ने निशाना साधते हुए कहा कि वह हताश एवं बेसुध हैं। बता दें कि इससे पहले बुधवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस), तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) या कांग्रेस नहीं बल्कि सिर्फ भगवा दल ही ओवैसी जैसे लोगों से लड़ सकता है। अमित शाह ने एक जनसभा में निजाम शासित हैदराबाद के भारतीय संघ के विलय का दिन (17 सितंबर), ‘हैदराबाद मुक्ति दिवस’ के रूप में ना मनाने के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री और टीआरएस के प्रमुख चंद्रशेखर राव की भी जमकर आलोचना की। उन्होंने कहा था, ‘ओवैसी के डर से और मुस्लिम वोट बैंक की खातिर चंद्रशेखर राव ने हैदराबाद मुक्ति दिवस मनाना बंद कर दिया।

‘हताश और बेसुध हैं अमित शाह
शाह की टिप्पणी को लेकर हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने कहा कि वह गोरक्षकों की धुन पर ना नाचें। उन्होंने कहा, ‘अमित शाह हताश और बेसुध हैं और उन्हें नहीं पता कि तेलंगाना में क्या करें।’ एआईएमआईएम के नेता ने कहा, ‘…क्योंकि तेलंगाना के लोग एक समग्र संस्कृति में विश्वास रखते हैं और गंगा-जुमनी तहजीब की तरफ उनका झुकाव है। तेलंगाना में संविधान के अनुरूप शासन है और लोगों पर कानून का शासन है।’

ओवैसी बोले-… इस कोशिश में लगे हैं बीजेपी के लोग
असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘आप (बीजेपी) भारत को आरएसएस का राज बनाने की कोशिश में लगे हैं इसलिए तेलंगाना के लोग आपका पूरी तरह से विरोध करते हैं और आरएसएस एवं उसके संगठनों को वह करने नहीं देंगे जो वह बीजेपी शासित राज्यों में कर रहे हैं।’

‘तेलंगाना में लड़के-लड़कियों को परेशान नहीं किया जाता’
ओवैसी ने कहा, ‘अमित शाह से पूछना चाहता हूं कि आप गोरक्षकों की धुन पर क्यों नाच रहे हैं? आप उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे हैं जो देश के युवाओं को नुकसान पहुंचा रहे हैं ?’ उन्होंने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों के उलट तेलंगाना में एक दूसरे से बात करने पर लड़के-लड़कियों को परेशान नहीं किया जाता, न ही गाय के नाम पर लोगों को मारा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here