ताइवान की राष्ट्रपति को अपने देश से होकर नहीं जाने दे अमेरिका: चीन

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- चीन ने शुक्रवार को कहा कि ‘एक चीन’ नीति के अनुपालन में अमेरिका ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग-वेन को देश से होकर जाने की अनुमति नहीं दे। साई चार कैरेबियाई देशों की यात्रा पर हैं और बृहस्पतिवार को वह न्यूयॉर्क पहुंचीं, जहां उनके दो दिन ठहरने की संभावना है। वापसी में उनके डेनवर में ठहरने की संभावना है।

चीन ने कहा कि ताइवान उसका हिस्सा है और यह उसकी ‘एक चीन’ नीति के तहत आता है। ताइवान की आजादी की वकालत करने वाली साई के 2016 में सत्ता में आने के बाद से चीन ने ताइवान को लेकर अपना रुख सख्त कर दिया है। अमेरिका ने कहा है कि उसकी ‘एक चीन’ नीति में कोई बदलाव नहीं किया गया है और इसके तहत अमेरिका आधिकारिक रूप से चीन को मान्यता देता है न कि ताइवान को।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने ”एक चीन” नीति के तहत किसी भी देश द्वारा ताइवान के साथ किसी भी किस्म के राजनयिक एवं सैन्य संबंध स्थापित करने पर कड़ा विरोध दोहराया। उन्होंने उम्मीद जतायी कि अमेरिका ऐसे मुद्दों से उचित तरीके से निपटेगा ताकि क्षेत्र में शांति एवं स्थिरता को नुकसान नहीं हो।