डोनाल्ड ट्रंप की सीनेट को अजीबो गरीब सलाह, खारिज कर दे महाभियोग प्रस्ताव ।जनता से रिश्ता

file photo

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। वाशिंगटन, एपी।  अपने खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव पर चर्चा से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सीनेट को अजीबोगरीब सलाह दी है। कहा है कि सीनेट (संसद का उच्च सदन) को ऐसे किसी प्रस्ताव को सामान्य तरीके से खारिज कर देना चाहिए। ट्रंप के खिलाफ महाभियोग का प्रस्ताव सीनेट में चर्चा के लिए प्रस्तावित है। प्रतिनिधि सभा इसे पहले ही पारित कर चुकी है।

ट्रंप पर निजी हित के लिए पद के दुरुपयोग का आरोप है। उन्होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदोमीर जेलेंस्की पर डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता जो बिडेन के खिलाफ जांच शुरू करने के लिए दबाव डाला था। इसके बाद संसद की जांच में बाधा डालने की कोशिश की।

इतिहास में यह तीसरा 

राष्ट्रपति का इस सिलसिले में मिला-जुला संदेश महाभियोग प्रस्ताव पर वोटिंग से कुछ दिन पहले आया है। अमेरिका के इतिहास में यह तीसरा मामला होगा जब किसी राष्ट्रपति के खिलाफ सीनेट में चर्चा होगी। ट्रंप ने इससे पहले ट्रायल के दौरान भी कई सुझाव दिए थे और कहा था कि इस ट्रायल से कुछ नहीं होने वाला। ट्रंप ने कहा है कि सारी प्रक्रिया राजनीतिक कारणों से चलाई जा रही है। विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी चुनाव से पहले इसके जरिये राजनीतिक खेल कर रही है जिससे उसे फायदा हो जाए।

प्रतिनिधि सभा से मांगे सुबूत

सीनेट में ट्रंप की रिपब्लिकन पार्टी के नेता मिच मैककॉनेल ने महाभियोग के लिए सुबूतों की कमी बताई थी और प्रतिनिधि सभा से सारे सुबूत मांगे थे। प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नेंसी पेलोसी ने सीनेट को सुबूत भेजते हुए कहा था कि अगर महाभियोग प्रस्ताव को पटरी से उतारने की कोशिश हुई तो रिपब्लिकन पार्टी को उसका राजनीतिक खामियाजा उठाना पड़ेगा। पेलोसी विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी की नेता हैं।