टी-20 क्रिकेट में केन्या ने बनाये 270 रन

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- विश्व की सबसे पिछड़ी टीमों में से एक केन्या क्रिकेट जगत में एक नया कीर्तिमान स्थापित करने से दुर्भाग्यवश चूक गई। विश्व टी-20 क्वॉलिफायर में रवांडा के खिलाफ केन्या ने निर्धारित 20 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 270 रन बनाए, जो कि टी-20 इंटरनेशनल और टी-20 क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर से 7 रन ज्यादा है।
दुख की बात यह है कि इस मैच को इंटरनेशनल टी-20 और टी-20 क्रिकेट की मान्यता न मिलने के कारण केन्या के इस स्कोर को सर्वाधिक स्कोर नहीं माना जा सकता। बता दें कि इस बड़े स्कोर में केन्या की तरफ से किसी बल्लेबाज ने शतक तो नहीं ठोका लेकिन चार बल्लेबाजों ने जोरदार अर्धशतक जमाए। मैच में केन्याई बल्लेबाजों ने इस मैच में 20 छक्के और 21 चौके जड़ते हुए 20 ओवर में 270 रन का विशाल स्कोर खड़ा कर दिया।आईसीसी ने इसी साल अप्रैल में घोषणा की थी कि वह अपने 104 एसोसिएट देशों के टी-20 इंटरनेशनल का दर्जा देगी, जिनकी संख्या वर्तमान में 18 है, लेकिन आईसीसी का ये नया नियम 1 जनवरी 2019 से प्रभावी होगा। हालांकि आईसीसी द्वारा अपने एसोसिएट के टी-20 खेलने वाले देशों का दर्जा देने का नियम महिला क्रिकेट के लिए 1 जुलाई 2018 से प्रभावी हो गया है।इसका मतलब है कि केन्या ने भले ही 20 ओवर में 6 विकेट पर 270 रन बनाए लेकिन उसका स्कोर टी20 इंटरनेशनल तो छोड़िए टी-20 क्रिकेट के रिकॉर्ड के तौर पर भी दर्ज नहीं होगा। टी20 इंटरनेशनल में सबसे बड़े स्कोर का रिकॉर्ड अभी भी ऑस्ट्रेलिया के नाम है, जिसने 2016 में पल्लेकेले में श्रीलंका के खिलाफ 3 विकेट पर 263 रन बनाए थे।वहीं टी-20 क्रिकेट के सबसे बड़े स्कोर का रिकॉर्ड आईपीएल टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के नाम है जिसने 2013 में पुणे वॉरियर्स के खिलाफ क्रिस गेल की नाबाद 175 रन की पारी की बदौलत आईपीएल में 5 विकेट पर 263 रन का स्कोर खड़ा किया था।