टीम इं‍डिया के कोच रवि शास्‍त्री ने BCCI से किया यह आग्रह…

Hits: 10

 जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- नई दिल्ली : इंग्‍लैंड के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज में टीम इंडिया (Team India) की 1-4 की करारी हार के बाद कोच रवि शास्‍त्री (Ravi Shastri) क्रिकेट समीक्षकों के निशाने पर हैं. दौरे के लिए इंग्‍लैंड रवाना होने के पहले शास्‍त्री ने बड़बोले बयान देते हुए कहा था कि मौजूदा भारतीय टीम पिछले 15 साल की बेस्ट टीम है. टीम इंडिया के बुरी तरह से सीरीज हारने के बाद शास्‍त्री का यह बयान ही उनके लिए भारी पड़ गया था. सुनील गावस्‍कर और सौरव गांगुली जैसे दिग्‍गज क्रिकेटरों ने इस तरह की बयानबाजी के लिए शास्‍त्री को आड़े हाथ लिया था.  गावसकर ने कहा था कि कि 1980 में टीम इंडिया ने इंग्लैंड और वेस्ट इंडीज के खिलाफ सीरीज जीती थीं, साथ ही भारतीय टीम ने 2007 में भी इंग्लैंड के खिलाफ भी सीरीज जीती थी. सनी ने कहा था कि विदेशी दौरों पर बेहतर करने के लिए टीम को मैदान पर शानदार प्रदर्शन करना होता है.शास्‍त्री के बयान पर सौरव गांगुली ने भी कहा था कि ‘इस तरह बातें करना अच्छा नहीं है. यह सिर्फ उनकी (शास्‍त्री की) अपरिपक्वता को दर्शाता है’ गांगुली ने तो यहां तक कहा था कि मैं नहीं चाहता कि हम उनके इस बयान पर ज्यादा ध्यान दें. बहरहाल, सीरीज में मिली इस हार के बाद शास्‍त्री अब रक्षात्‍मक मुद्रा में हैं. उन्‍होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नवंबर में होने वाली टेस्ट सीरीज से पहले टीम इंडिया के लिए अधिक से अधिक अभ्यास मैच आयोजित कराने का भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से किया है गौरतलब है कि भारतीय टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले वहां पर एसेक्स के खिलाफ केवल एक प्रैक्टिस मैच खेला था. इसके बाद टेस्ट सीरीज में उसे इंग्लैंड के हाथों 1-4 की शर्मनाक हार झेलनी पड़ी थी. शास्त्री ने क्रिकइंफो को दिए इंटरव्‍यू में कहा कि वह सकारात्मक सोच के साथ इंग्लैंड से रवाना हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि सीरीज 1-4 से हारने के बाद इसकी समीक्षा को लेकर बोर्ड की तरफ से उन्हें कोई सूचना नहीं मिली है. टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले ही भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा था कि वह ज्यादा अभ्यास मैचों के पक्ष में नहीं हैं. हालांकि शास्त्री का कहना है कि उन्होंने कभी अभ्यास मैचों का विरोध नहीं किया है.भारतीय कोच ने कहा, “ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले हमने अधिक से अधिक अभ्यास मैच आयोजित कराने का बोर्ड से अनुरोध किया है,  लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या वहां पर इसके लिए जगह है. ” भारतीय टीम 21 नवंबर से शुरू होने वाले तीन मैचों की टी-20 सीरीज से ऑस्ट्रेलिया दौरे की शुरुआत करेगी. इसके 10 दिन बाद से ही उसे टेस्ट मैच खेलने हैं. रवि शास्त्री ने कहा, “टेस्ट सीरीज शुरू होने से पहले हम तीन या चार दिवसीय दो मैच खेलना चाहते हैं. लेकिन क्या आपके पास समय है? उदाहरण के लिए, टेस्ट सीरीज से पहले हमें वहां पर टी-20 सीरीज खेलना है. टेस्ट मैच शुरू होने से पहले 10 दिन का अंतराल है. ये कुछ चीजें हैं जिन्हें पहले ही मंजूरी दे दी गई है और यह हमारे नियंत्रण में नहीं है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here