दुर्ग संसदीय क्षेत्र के मतदाता नहीं, उन्हें मतदान के 48 घंटे पहले छोड़ना होगा जिला

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- लोकसभा निर्वाचन में विभिन्न राजनैतिक दलों के लिए प्रचार करने अन्य जिलों और बाहर से दुर्ग संसदीय क्षेत्र में आये लोगों को मतदान के 48 घंटे पहले वापस लौटना होगा। इस संबंध में कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट महादेव कावरे ने बताया कि बेमेतरा जिले में 23 अपै्रल  को मतदान होगा। मतदान से 48 घंटे पहले रविवार 21 अपै्रल की शाम पांच बजे से राजनैतिक प्रचार थम जायेगा। इसके बाद रैलियां, जुलूस या सभाएं जैसे किसी भी प्रकार का सार्वजनिक प्रचार नहीं होगा, लेकिन प्रत्याशी घर-घर संपर्क कर सकेंगे।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा इस संबंध में जारी निर्देशों के अनुसार लोकसभा क्षेत्र की सीमा के बाहर से राजनैतिक प्रचार-प्रसार के लिए आये लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं को मतदान के 48 घंटे पहले संसदीय सीमा क्षेत्र से बाहर जाना होगा। ऐसे व्यक्ति जो दुर्ग संसदीय क्षेत्र के मतदाता नहीं हैं उन्हें भी मतदान के 48 घंटे पहले दुर्ग एवं बेमेतरा जिले की सीमा से बाहर जाना होगा। कलेक्टर ने बताया कि होटलों और लॉज में बाहर से आकर रूकने वाले लोगों को रविवार 21 अपै्रल से ही मतदान के 48 घंटे पहले जिला छोड़ने के लिए सूचित कर दिया जाये। उन्होंने इसके लिए होटलों और लाज के संचालकों को प्रशासन का सहयोग करने की अपील की। कलेक्टर ने बताया कि मतदान के दिन 23 अपै्रल को जिले में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है। इस दिन सभी शासकीय कार्यालय बंद रहेंगे, किन्तु निर्वाचन का कार्य सुचारू रूप से जारी रहेगा। शादी-ब्याह या अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में बेमेतरा या जिले के कस्बा में आकर होटलों में रूकने वाले लोगों की जानकारी संबंधित एसडीएम और थाना प्रभारी को लिखित में देनी होगी। पुलिस अधीक्षक प्रशांत ठाकुर ने कहा कि मतदान से 48 घंटे पूर्व प्रचार समाप्त होने के बाद पुलिस बल द्वारा जिले की लॉज और होटलों की सघन जांच की जायेगी और राजनैतिक प्रचार के लिए बाहर से आये हुए लोगों की तस्दीक करने हेतु थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है।