जानिए नकारात्मक विचारों से कैसे पाए निजात

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | कई बार हमें ऐसा महसूस होता है कि मानो सारी कायनात हमारे खिलाफ साजिश कर रही है. ऐसे हालात में हम खुद को बेहद टूटा और बिखरा हुआ महसूस करते हैं और मन नकारात्मकता से भर जाता है. इससे निकलने के लिए कई बार हम चीजों या घटनाओं के प्रति तटस्थ रवैया अपनाने लगते हैं जोकि आगे जाकर डिप्रेशन का भी रूप अख्तियार कर सकता है. आइए आज जानते हैं कि मन में पनपने वाले नकारात्मक विचारों से कैसे निजात पाई जाए वो तो सूना ही होगा कि शुरुआत अच्छी हो तो अंत भी अच्छा ही होता है. इसलिए दिन की शुरुआत सकारात्मक विचारों और प्रसन्नता के साथ करें. आप अपने आप पास जो वाइब्रेशन छोड़ते हैं वैसे ही माहौल आपके आस पास बन भी जाता है. सकारात्मक चीजों पर अपना अध्यान केंद्रित करें और नकारात्मक विचारों के बारे में सोचना छोड़ दें. फिर देखिएगा बदलाव.जिंदगी बेहद खूबसूरत है अगर आप इसे बेहतर तरीके से समझ पाएं तो. शुक्रिया कहना सीखिए. अगर आप ईश्वर में विश्वास करते हैं और अगर नहीं करते हैं तो पूरे ब्रह्मांड को संचालित करने वाली उस ऊर्जा को शुक्रिया अदा करना न भूलें जिसने आपको इतनी खूबसूरत जिंदगी दी है. आप महसूस करेंगे कि आप न केवल सृष्टि के प्रत्येक कण के लिए एहसानमंद हो रहे हैं बल्कि दूसरों के प्रति भी आपमें कृतज्ञता का भाव पैदा होगा.अहम् ब्रह्मास्मि’ अर्थात ‘मैं ही ब्रह्म हूं’ इस बात पर विश्वास रखिए. कई बार हम दूसरों के जीवन और उनकी उपलब्धियों से खुद की तुलना करके अपना मन छोटा कर लेते हैं और इसकी वजह से नकारात्मकता पैदा होती है. इस बात पर यकीन करें कि आप सृष्टि की बेहतरीन रचनाओं में से एक हैं जोकि अपनी नियति को पानी के लिए बनी है. दूसरों से खुद की तुलना करने की जगह खुद को खंगालना शुरू करें ताकि आप अपनी आत्मिक खूबसूरती से रुबरू हो पाएं.