जानिए उत्तर प्रदेश में 75 जिलों की संख्या…कहा और कितने

जनता से रिस्ता वेबडेस्क :-   नई दिल्ली। बीते सप्ताह तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने वेल्लौर जिले को तीन हिस्सों में बांटकर दो और जिले रानीपेट और तिरुपत्तूर बनाने की घोषणा की। इस साल जनवरी और जुलाई में तमिलनाडु सरकार पहले ही तीन नए जिले बना चुकी है और अब हालिया घोषणा से राज्य में जिलों की संख्या 37 हो जाएगी। आमतौर पर नया जिला बनाए जाने का मकसद शासन के कामकाज को आसान करना होता है। यानी बड़े इलाके की तुलना में छोटे इलाके में काम आसानी से किए जा सकते हैं, लेकिन कई बार स्थानीय लोगों की मांगों की वजह से भी नए जिले बनाने का फैसला लेना पड़ता है।                                                                   सबसे ज्यादा जिलों वाला राज्य उत्तर प्रदेश- वर्तमान में सबसे ज्यादा जिलों वाला राज्य उत्तर प्रदेश है, जहां 75 जिले हैं। इसके बाद 52 जिलों वाले मध्य प्रदेश का नंबर आता है। महज दो जिलों के साथ गोवा सबसे कम जिलों वाला प्रदेश है। राज्य में जिलों की संख्या हमेशा उसके आकार और जनसंख्या पर निर्भर करे ऐसा जरूरी नहीं है। उदाहरण के तौर पर आंध्र प्रदेश देश का सातवां बड़ा राज्य है, लेकिन जिलों की संख्या महज 13 है।

इसके हर 12 हजार वर्ग किलोमीटर पर एक जिला है, जो देश के किसी भी राज्य में औसत में सबसे बड़ा है। वहीं, दूसरी तरफ त्रिपुरा की बात करें तो यह एक छोटा राज्य है। इसमें केवल आठ जिले हैं, लेकिन यहां के हर 1300 वर्ग किलोमीटर पर एक जिला है, जो देश के अन्य राज्यों से औसत में सबसे छोटा है। इसका मतलब यह हुआ कि आंध्र प्रदेश का एक जिला त्रिपुरा के एक जिले की तुलना में औसतन नौ गुना बड़ा है। जनसंख्या के आधार पर तुलना करें तो आंध्र प्रदेश के एक जिले की औसत आबादी जहां 38 लाख है, वहीं त्रिपुरा में यह महज साढ़े चार लाख है।सोशल मीडिया का क्रेज पूरी दुनिया में है। इसे लेकर हाल ही में मार्केट रिसर्च कंपनी ग्लोबल वेब इंडेक्स ने एक सर्वेक्षण किया है, जिसमें सामने आया है कि वैश्विक स्तर पर इंटरनेट यूजर्स दिन में औसतन 2 घंटा 23 सोशल मीडिया पर बिताते हैं। सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा समय देने वालों में फिलीपींस पहले स्थान पर है, जबकि नाइजीरिया, मेक्सिको और तुर्की क्रमश: दूसरे, तीसरे और चौथे स्थान पर हैं। 2 घंटा 25 मिनट सोशल मीडिया पर                                                                                  कहां, कितने जिले – उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, बिहार और तमिलनाडु के बाद महाराष्ट्र का नंबर आता है, जहां 36 जिले हैं। इसके बाद असम, राजस्थान और गुजरात में 33-33, तेलंगाना में 31, कर्नाटक और ओडिशा में 30-30 जिले हैं।                                                                 38 जिलों के साथ बिहार की तीसरा स्थान – 37 जिले होने के बाद तमिलनाडु देश में जिलों की संख्या के आधार पर चौथा राज्य बन जाएगा। 38 जिलों के साथ बिहार तीसरे स्थान पर है। जनवरी में जहां तमिलनाडु में 4,000 वर्ग किलोमीटर पर एक जिला था, वहीं 37 जिले होने के बाद यह करीब 3,500 वर्ग किलोमीटर रह जाएगा।