जब्त शराब का किया परीक्षण, रिपोर्ट मिलते ही प्रशासन ने किया नष्ट

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-
रायगढ़। पुलिस अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों में अवैध रूप से बिक्री करते तथा अवैध शराब रखना पाए जाने पर आबकारी एक्ट के तहत वर्ष 2018 तक जब्त किए गए 150 प्रकरणों में 3840 लीटर देशी/विदेशी मदिरा को राजसात योग्य घोषित कर नष्टीकरण के लिए कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी को प्रतिवेदन प्रेषित किया गया था। जिनके द्वारा जब्त शराब के मानव उपयोग होने अथवा नहीं होने की जांच आबकारी अधिकारी द्वारा कराया गया। आबकारी अधिकारी द्वारा शराब परीक्षण कर अपनी रिपोर्ट दी गई कि उक्त शराब मानव उपयोग योग्य नहीं है।
इससे कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी ने अनुपयोगी शराब का नष्टीकरण के लिए अपर कलेक्टर आर कुरवंशी, एएसपी अभिषेक वर्मा एवं सहायक जिला आबकारी अधिकारी इंद्रबली सिंह मारकंडे की एक टीम गठित की गई। जिसमें थाना प्रभारी कोतवाली एवं चक्रधरनगर सदस्य के रूप में शामिल थे।
गठित टीम द्वारा विधिवत पर्यावरण विभाग से अनुमति प्राप्त कर 15 जून की सुबह रामपुर स्थित शासकीय भूमि पर शराब को गहरे गड्ढे में डाल कर उसके ऊपर रोलर चलाकर मिट्टी से पाटा गया। इस दौरान मौके पर थाना प्रभारी कोतवाली एसएन सिंह, थाना प्रभारी चक्रधरनगर युवराज तिवारी, चौकी प्रभारी जूटमिल अंजना केरकेट्टा, थाना प्रभारी भूपदेवपुर उत्तम साहू, चौकी प्रभारी कनकबीरा आरसी पैंकरा, एसपी रीडर सउनि गिरधारी साव एवं समस्त थाना-चौकी के स्टाफ मौजूद थे।