गोडसे को हिंदू आतंकी बताने के बाद कमल हासन ने कहा -‘वही कहा जो ऐतिहासिक सच था’

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- चेन्नै : नाथूराम गोडसे को आजाद भारत का पहला आतंकी बताए जाने के बयान पर विवादों में घिरे मक्कल नीधि मय्यम के संस्थापक कमल हासन   बुधवार को कहा कि उन्होंने वही कहा है जो एक ऐतिहासिक सच था। फिल्मी दुनिया से राजनीति में आए हासन ने अपने विरोधियों से बस ‘वैध आरोप’ लगाने को कहा है और पूछा कि राजनीति में कदम रखने के बाद क्या वह समाज के बस एक ही तबके की बात करें। बता दें कि गोडसे के बयान के बाद तमाम हिंदू संगठनों और भारतीय जनता पार्टी ने इसकी आलोचना की थी। अपने बयान पर छिड़े विवाद के बीच उन्होंने मदुरै के समीप तिरूपुरकुंदरम में चुनाव प्रचार के दौरान कहा, ‘मैंने अरवाकुरिचि में जो कुछ कहा, उससे वे नाराज हो गये। मैंने जो कुछ कहा है वह ऐतिहासिक सच है। मैं किसी को झगड़े के लिए नहीं उकसाता।’ उन्होंने कहा कि सच विजयी रहता है और मैने ऐतिहासिक सच कहा है।’ हासन ने आरोप लगाया कि उनके भाषण को चुनिंदा ढंग से संपादित किया गया । उन्होंने यह कहते हुए विरोधियों पर निशाना साधा कि उनके खिलाफ लगाये गये आरोप के लिए हमारे मीडिया के दोस्त भी जिम्मेदार हैं।

मेरी बेटी भी हिंदू धर्म को मानती है: हासन
उन्होंने कहा कि क्या उनके आलोचक उनके बयान में ऐसा कुछ दिखा सकते हैं जो हिंसा भड़के और कहा कि उनके खिलाफ लगे आरोपों से उन्हें पीड़ा पहुंची है। उन्होंने कहा, ‘वे कह रहे हैं कि मैंनें हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंचाया। मेरे परिवार में भी कई हिंदू हैं। मेरी बेटी भी हिंदू धर्म को मानती है।’ बता दें कि अभिनेता से नेता बने कमल हासन ने मंगलवार को एक विवादास्पद बयान देते हुए कहा था कि आज़ाद भारत का पहला आतंकवादी हिन्दू था। महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे की ओर इशारा करते हुए हासन ने कहा कि वह एक हिन्दू आतंकी था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here