गेंदबाज ग्लेन मैक्ग्राथ ने की जोफ्रा आर्चर की तारीफ, कही यह बात…

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- महान क्रिकेटर ग्‍लेन मैक्‍ग्राथ ने इंग्‍लैंड के जोफ्रा आर्चर को तेज गेंदबाजी के लिहाज से नई सनसनी करार दिया है. उन्‍होंने कहा कि आर्चर ने जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि उनका भविष्‍य उज्ज्‍वल है. टेस्‍ट क्रिकेट में 124 टेस्ट में 563 विकेट लेने वाले पूर्व तेज गेंदबाज मैक्ग्राथ ने कहा कि आर्चर लंबे समय तक टेस्‍ट क्रिकेट खेलेंगे. जैसे-जैसे वे अनुभव हासिल करते जाएंगे, उनके प्रदर्शन में और निखार आता जाएगा. मैक्ग्राथ का मानना है कि आर्चर की गेंदबाजी एशेज सीरीज में इंग्‍लैंड के दूसरे गेंदबाजों को भी अच्‍छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित कर रही है.

मैक्‍ग्राथ ने बीबीसी के लिए लिखे अपने कॉलम में कहा, ‘मैं लंबे समय से आर्चर का समर्थक रहा हूं. इतनी गति के साथ सटीक रहते हुए गेंदबाजी करना अपने आप में खास बात है. गेंदबाजी करते हुए उन्‍हें एक्‍शन को देखकर ऐसा नहीं लगता कि वे बहुत जोर लगा रहे हैं. आर्चर का रनअप शानदार हैऔर क्रीज तक बेहतरीन अंदाज में पहुंचते हैं. ‘ ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व क्रिकेटर ने कहा, आर्चर  युवा होने के साथ बेहद फिट हैं. वे सही एरिया में गेंद करते हैं और उनकी गति भी अच्छी होती है. लॉर्ड्स टेस्‍ट में उसने कुछ लंबे स्पैल फेंके लेकिन खास बात यह रही कि इस दौरान उन्‍होंने अपनी गति को बरकरार रखा. यह दर्शाता है कि वे लंबे स्‍पैल करने के बावजूद अपनी गति को बरकरार रखने में सक्षम हैं. उनके एक्‍शन और तकनीक को देखते हुए मुझे ऐसा कोई कारण नहीं दिखता कि वे लंबे समय तक टेस्‍ट न खेल सकें.

मैक्ग्राथ का मानना है कि आर्चर की गेंदबाजी उनके सहयोगी गेंदबाजों पर भी सकारात्मक असर डाल रही है. उनके साथ गेंदबाजी के लिए स्‍टुअर्ट ब्रॉड है जो अच्‍छे एरिये में गेंद करते हुए. ऐसे में बल्‍लेबाजों के लिए गेंदबाजी का सामना करना बेहद मुश्किल हो जाता है. गौरतलब है कि तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन के इंजुरी के कारण बाहर होने के बाद लॉर्ड्स टेस्‍ट में आर्चर को इंग्‍लैंड की प्‍लेइंग XI में जगह दी गई थी. अपने डेब्‍यू टेस्‍ट में भी आर्चर की गेंदबाजी के आगे ऑस्‍ट्रेलियाई बल्लेबाज असहज नजर आए. आर्चर की एक तेज गेंद ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज स्टीव स्मिथ की गर्दन पर लगी थी जिसके कारण उन्हें रिटायर होना पड़ा था. चोटिल होने के कारण स्मिथ को तीसरे टेस्ट से बाहर होना पड़ा है.