गाजियाबाद में एक करोड़ के पुराने नोटों के साथ 10 गिरफ्तार !!

गाजियाबाद : 500 और 1000 के नोट बंद हुए 2 साल हो गए हैं, इसके बाद भी पुराने नोटों को बदलने का धंधा बदस्तूर जारी है. कुछ लोग आज भी कमिशन पर पुराने नोट बदलने का काम कर रहे हैं. पुलिस ने देश के अलग-अलग हिस्सों ने करीब 2 करोड़ के पुराने नोट बरमाद किए हैं. इस सिलसिले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. जनपद पुलिस ने कविनगर थाना क्षेत्र से मंगलवार को चलन में दो साल पहले बंद हो चुके एक करोड़ के पुराने 500 व 1000 रुपये के नोटों के साथ 10 लोगों को गिरफ्तार किया. ये लोग दो प्रतिशत कमीशन के लालच में बरामद नोटों को नेपाल ले जा रहे थे. आरोपियों के पास से दो कार भी बरामद हुई हैं.

कविनगर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि कुछ लोग बंद हो चुके 500-1000 के नोट को कार में रखकर नेपाल ले जा रहे हैं. सूचना पर पहुंची पुलिस ने चेकिंग के दौरान कविनगर सी ब्लॉक मार्किट से दो स्विफ्ट कार के साथ 10 लोगों को पकड़ा. एक गाड़ी में अवतार सिंह, गौरव, राजेश उर्फ मंत्री, पिंटू और राहुल कुमार को 50 लाख रुपये के पुराने नोटों (500 रुपये के नोट की गड्डियां) के साथ पकड़ा. वहीं दूसरी गाड़ी में सवर अरुण गुप्ता, दीपक, राहुल शर्मा, काव्य और सचिन कुमार के पास से 50 लाख रुपये के पुराने नोट बरामद हुए. सभी को गिरफ्तार कर लिया गया.पुलिस ने बताया कि पूछताछ में पकड़े गए अरुण गुप्ता ने बताया कि नोएडा निवासी अनिल ने उन्हें नकली नोट नेपाल ले जाने के लिए लालच दिया था. अनिल को इस काम के लिए दस प्रतिशत और हमें दो-तीन प्रतिशत कमीशन मिलना था. पुलिस गिरोह के फरार साथियों की तलाश कर रही है. इसके अलावा तमिलनाडु के कोयंबटूर से भी पुलिस ने 60 लाख रुपये की कीमत के पुराने नोट बरामद किए हैं. यहां पुलिस ने 1000 के 6000 नोट बरामद किए.