गर्भवती महिलाओ के लिए फायदेमंद है करेले का जूस

जनता से रिश्ता वेबडेस्क – करेले का सेवन प्रेग्नेंसी में करने से मां और गर्भ में पल रहे बच्चे दोनों के स्वास्थ्य के लिए एक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है करेले में फाइबर, कैल्शियम, पोटेशियम, बीटा-केरोटिन और डाइट्री फाइबर होता है जो पेट में पल रहे बच्चे के लिए काफी लाभदायक माना जाता है।

गर्भवती महिलाओं के लिए फोलेट एक महत्वपूर्ण आवश्यकता है यह मिनरल्स संभावित न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट को सुरक्षित रखने में मदद करता है और करेले में फोलेट काफी मात्रा में पाया जाता है आज हम इसके कई फायदे बताते है।

करेले में फाइबर की काफी मात्रा होती ही इसके खाने से पेट भरा भरा महसूस होता है और ये हाई-कैलोरी फूड्स और जंक फूड्स की क्रेविंग्स को कम करता है इसके आलावा ये गर्भावस्ता में मोटापे को भी रोकता है।

करेले में विटामिन सी पाया जाता है जो जो एंटीऑक्सीडेंट होता है और ये प्रेग्नेंट महिलाओ को हानिकारक बैक्टीरिया से बचाता है और इम्युनिटी सिस्टम को भी बेहतर बनता है।

करेला पेरिस्टालिसिस को बढ़ावा देने में भी मदद कर सकता है जो बाद में बॉवेल मूवमेंट को नियंत्रित करने और गर्भवती महिलाओं के पाचन तंत्र को बेहतर करने में मदद करता है

प्रेग्नेंसी में करेले के सेवन से भ्रूण का विकास भी होता है क्योंकि करेले में आयरन, नियासिन, पोटेशियम, पेंटोथेनिक एसिड, जिंक, पाइरोडॉक्सिन, मैग्नीशियम और मैंगनीज होते है जो इसे सुपर वेजिटेबल बनाते है।