गरियाबंद में प्राथमिक साख सहकारी समिति महासंघ की बैठक हुई संपन्न

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :-  गरियाबंद/राजिम। प्रदेश की प्राथमिक साख सहकारी समितियों को भंग करने की चल रही खबरों के बीच आज गरियाबंद में प्राथमिक साख सहकारी समिति महासंघ की बैठक लोक निर्माण विश्राम गृह में रखी गई थी जिसमें महासंघ के सभी 36 समितियों के अध्यक्ष व संचालक सदस्य शामिल हुए। महासंघ के सदस्यों ने एकस्वर में कहा कि अभी विभिन्न समाचार पत्रों के माध्यम से हमें वर्तमान प्राथमिक सहकारी समितियों को परिसीमन के कारण संचालक मंडल को भंग करने की जानकारी प्राप्त हो रही है.जो सर्वथा अनुचित है। हमारी मांग है कि वर्तमान में चुनकर आये सहकारी समितियों के संचालक मंडल को उनके पंचवर्षीय कार्यकाल के पूर्ण होने तक यथावत रखा जाए। इसे कार्यकाल के बीच में ही भंग कर दिया जाना असंवैधानिक है व किसानों के द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधियों पर कुठाराघात है। आज आहूत की गई बैठक में सर्वसम्मति से सभी पदाधिकारियों ने कहा कि यदि तत्संबंध में आदेश शासन के द्वारा जारी किया जाता है तो हमसब अपने अधिकारों व कृषक हित को ध्यान में रखते हुए इसे माननीय उच्च न्यायालय छत्तीसगढ़ के समक्ष प्रस्तुत कर चुनौती देंगे।हमारी मांग है कि उक्ताशय के संबंध में आदेश प्रसारित न किया जाए। बैठक में मुख्य रूप से प्राथमिक सहकारी समिति महासंघ के संरक्षक द्वय पन्नालाल ध्रुव व राजेन्द्र भारती अध्यक्ष फगेन्द्र यदु, महासचिव चन्द्रशेखर साहू सहित जिले के समस्त प्राथमिक सहकारी समिति के अध्यक्ष नत्थू कश्यप खिलावन पात्र विनोद अग्रवाल नारद साहू बाबूलाल साहू यशवंत साहू मौजूद रहे।