गरियाबंद: बैल की मौत से दुखी किसान ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- गरियाबंद। किसानों की आर्थिक दशा का अंदाजा ​इस बात से लगाया जा सकता है कि एक ​किसान बैल की मौत से दुखी होकर आत्महत्या कर ली। इसके साथ ही किसान दिव्यांग बेटे की तकलीफों से भी परेशान था। घटना सढोंली गांव की हैं यहाँ दिन भर से लापता 70 वर्षीय किसान का शव फांसी पर लटका मिला। इस संबंध में गांव वालों ने बताया कि बैल मरने के कारण समय पर धान बुवाई नहीं हो पाई थी जिसे लेकर किसान काफी परेशान था।

गरियाबंद के सढोली गांव के किसान रामेश्वर यादव अपने दिव्यांग बेटे की तकलीफों को देखकर लंबे समय से परेशान चल रहा था किसी तरह वह खेती किसानी कर परिवार चलाता था इन सबके बीच कुछ दिन पहले उसने अपनी जमा पूंजी से दो बैल खरीदे थे जिससे उसे खेती और अच्छे से होने की उम्मीद थी। लेकिन कुछ ही दिन पहले बैल की मौत हो जाने से किसान रामेश्वर यादव काफी परेशान हो गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here