कुंभ मेले : श्रद्धालुओं को मिलेंगी खास सुविधाएं, यात्रियों के लिए तैयार है रेलवे

जनता से रिश्ता वेबडेस्क :- 15 जनवरी से शुरू हो रहे कुंभ मेले की तैयारियां आखिरी दौर में हैं. इस आयोजन को भव्‍य और सुविधाजनक बनाने के लिए केंद्र और राज्‍य सरकार की ओर से हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. इसी के तहत भारतीय रेलवे ने श्रद्धालुओं को कई बड़े तोहफे दिए हैं. मेले को ध्‍यान में रखकर रेलवे की ओर से स्‍पेशल ट्रेनें चलाई जा रही हैं. इसके अलावा रेल यात्रियों की सहायता के लिए यूटीएस ऐप लॉन्च किया गया है. आज हम इस रिपोर्ट में रेलवे की कुछ खास सुविधाओं के बारे में बताने जा रहे हैं.

800 स्‍पेशल ट्रेनें
न्‍यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक रेलवे कुंभ के दौरान 800 स्पेशल ट्रेनें चलाएगा. उधर, उत्तर रेलवे ने अपने 5 में से 4 जोन से 10 फरवरी से 4 मार्च के बीच अलग-अलग स्टेशनों से प्रयागराज के लिए 157 ट्रेनें चलाने का फैसला किया है. इनमें राजधानी दिल्‍ली को जोड़ने वाली ट्रेन संख्‍या 04117/04118 प्रयागराज-आनंद विहार टर्मिनल-प्रयागराज सुपरफास्‍ट कुंभ स्‍पेशल अहम है. इस ट्रेन का स्टॉपेज फतेहपुर, कानपुर सेंट्रल और अलीगढ़ जंक्‍शन हैं. वहीं पंजाब से कुंभ के लिए 04510/04509 भटिंडा-प्रयागघाट- भटिंडा कुंभ स्‍पेशल ट्रेन चलेगी. यह ट्रेन रामपुर, नाभा, पटियाला, अंबाला कैंट होते हुए मुरादाबाद, बरेली, हरदोई होते हुए प्रयागराज को जाएगी.

स्पेशल ट्रेनों में फॉग सेफ्टी डिवाइस
रेलवे का अनुमान है कि इस बार 15 लाख श्रद्धालु कुंभ में जाने के लिए ट्रेनों का इस्तेमाल कर सकते हैं. इस वजह से रेलवे का राजस्व बढ़ने की उम्‍मीद है. वहीं कुंभ के दौरान रेलवे प्रयागराज से आने-जाने वाली सभी स्पेशल ट्रेनों में फॉग सेफ्टी डिवाइस लगाएगा. 14 जनवरी तक सभी ट्रेनों में डिवाइस लग जाएगी. यही नहीं, श्रद्धालु प्रयाग राज के लिए रेलवे के किसी भी टिकट काउंटर, आईआरसीटीसी की वेबसाइट या मोबाइल ऐप के माध्यमों से टिकट खरीद सकते हैं. बता दें कि समय-सारिणी के अनुसार चलने वाली ट्रेनें पूर्व घोषित समय पर चलेंगी. यात्री आश्रयों में भीड़ जुट जाने पर अघोषित स्पेशल ट्रेनें फौरन चलाई जाएंगी.

ऐप हुआ लॉन्‍च
यात्रियों की सुगमता के लिए रेलवे ने ‘रेल कुंभ सेवा ऐप ‘ मोबाइल ऐप को लांच किया है. इस ऐप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. इस ऐप के जरिए कुंभ मेले में आने वालों को पेपरलेस टिकटिंग की सुविधा मिलेगी. इसके साथ ही यह ऐप स्टेशनों पर उपलब्ध पार्किंग स्थल, रिफ्रेशमेंट रूम, वेटिंग रूम, बुक स्टॉल, खाद्य प्लाजा, एटीएम, ट्रेन पूछताछ जैसी यात्री सुविधाओं के बारे में जानकारी भी देगा.
इस ऐप में नैविगेशन, स्टेशन पर यात्री सुविधाएं, मेला विशेष ट्रेनें स्टेशनों पर यात्री आश्रय गृह, मेले में रेलवे शिविर, आपातकालीन संपर्क, ऑन कॉल सेवाएं, रेलवे टिकट बुकिंग, हेल्पलाइन नंबर, महत्वपूर्ण लिंक, शिकायत / प्रतिक्रिया, चित्र प्रदर्शनी, मानचित्र जैसी सुविधाएं उपलब्ध होंगी.  यही नहीं,  कुंभ 2019 में आगंतुकों और तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए प्रयागराज जंक्शन पर 10,000 लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है. इनमें वेडिंग स्टॉल, पानी के बूथ, टिकट काउंटर, एलसीडी टीवी, सीसीटीवी, महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग शौचालय होंगे.

इस ऐप में नैविगेशन, स्टेशन पर यात्री सुविधाएं, मेला विशेष ट्रेनें स्टेशनों पर यात्री आश्रय गृह, मेले में रेलवे शिविर, आपातकालीन संपर्क, ऑन कॉल सेवाएं, रेलवे टिकट बुकिंग, हेल्पलाइन नंबर, महत्वपूर्ण लिंक, शिकायत / प्रतिक्रिया, चित्र प्रदर्शनी, मानचित्र जैसी सुविधाएं उपलब्ध होंगी. यही नहीं,  कुंभ 2019 में आगंतुकों और तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए प्रयागराज जंक्शन पर 10,000 लोगों के रहने की व्यवस्था की गई है. इनमें वेडिंग स्टॉल, पानी के बूथ, टिकट काउंटर, एलसीडी टीवी, सीसीटीवी, महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग शौचालय होंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here