कांग्रेस के संरक्षण में चल रहा शराब का कारोबार हो रही अरबों की वसूली

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-
रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने शराबबंदी के मुद्दे पर प्रदेश सरकार पर फिर निशाना साधा है। श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश में अब भी शराब निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर बेच कर कांग्रेस का खजाना भरा जा रहा है। सरगुजा में ओवर रेट शराब बिक्री की शिकायतों के सही पाए जाने और इस मामले में जिला आबकारी अधिकारी को निलंबित किए जाने के परिपेक्ष्य में श्री कौशिक ने कहा कि इस मामले में भाजपा प्रदेश सरकार की मंशा पर पहले से ही शंका जता रही थी जो समय-समय पर सच साबित हो रही है। कौशिक ने कहा कि सबको पता है कि वह अधिकारी किसका करीबी था और चुनावी खर्च के लिए किन कांग्रेसियों की जेब भर रहा था। श्री कौशिक ने कहा कि भूपेश सरकार के शराब घोटाले पर अलग से जांच होना चाहिए। शराबबंदी के नारे और वादे के साथ सत्ता में आई कांग्रेस ने शराबबंदी के मामले में जिस तरह का शर्मनाक यू-टर्न लिया और वादाखिलाफी कर प्रदेश को छलने का काम किया है, उसका माकूल जवाब प्रदेश की जनता इस बार लोकसभा चुनाव में देगी। नेता प्रतिपक्ष श्री कौशिक ने कहा कि गांव-गांव में शराब कोचिए सरकार के संरक्षण में सक्रिय हैं और कांग्रेस शराब की नदी बहाकर चुनाव में जनमत को प्रभावित करने के अपने अलोकतांत्रिक हथकंडों को आजमा रही है। कभी प्लास्टिक बोतलों तो कभी पानी पाऊच में शराब भरकर बिकवाने व बंटवाने का काम प्रदेश सरकार और कांग्रेसी नेताओं के संरक्षण में चल रहा है। श्री कौशिक ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को अब यह नया ज्ञान हुआ है कि पूर्ण शराबबंदी के लिए जन-जागरण जरूरी है। यह ज्ञान चुनाव घोषणा पत्र जारी करते समय कहां लुप्त हो गया था, जब प्रदेश की पूर्ववर्ती सरकार पर शराब को लेकर हमला बोलते हुए कांग्रेस ने पूर्ण शराबबंदी का वादा किया था। शराबबंदी के नाम पर अध्ययन टीम और जन जागरण की जरूरत बता रहे भूपेश बघेल दरअसल शराबबंदी के नाम पर नित नए ढकोसले करने पर उतर आए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here