करोलबाग अग्निकांड: पुलिस ने होटल के जनरल मैनेजर समेत दो को किया गिरफ्तार, 17 की मौत

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- दिल्ली पुलिस ने होटल अर्पित पैलेस के महाप्रबंधक और प्रबंधक को गिरफ्तार कर लिया है. मंगलवार को इस होटल में आग लगने के कारण 17 लोगों की मौत हो गयी. आग की सूचना पाकर दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंचीं और राहत-बचाव कार्य में जुटी थी. हालांकि, मृतकों की संख्या में अभी और इजाफा होने की आशंका है. ज्यादातर मौतें दम घुटने की वजह से हुई हैं. हालांकि, अब तक आग लगने की वजह का पता नहीं चल पाया है. इधर दिल्ली सरकार ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपये की मुआवजा राशि देने का ऐलान किया है. आरोपियों की गिरफ्तार के बाद डीसीपी (मध्य) मंदीप सिंह रंधावा ने बताया कि होटल के महाप्रबंधक राजेंद्र और प्रबंधक विकास को गैर इरादत हत्या के आरोपों में गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि घटना के बाद होटल मालिक शरदेंदू गोयल फरार है. रंधावा ने बताया कि मामले को अपराध शाखा को स्थानांतरित कर दिया गया है.

आग पर काबू पाने के बाद राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कुल 13 लोग लाए गए, जिनमें से सभी को मृत घोषित कर दिया गया. वहीं लेडी हॉर्डिंग अस्पताल में 5 लोगों को लाया गया, जिनमें से 2 की मौत हो गई थी. एक और जगह दो लोगों की मौत हुई है. उधर गंगा राम में तीन लोग घायल हैं. इस तरह से कुल अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी थी. इस आग की घटना में बर्मा के दो लोगों की मौत हो चुकी है. बताया जा रहा था कि बर्मा से 8 लोगों का ग्रुप आया था, जिनमें 2 लोग के शव की पहचान हुई है. होटल कर्मचारी हरी सिंह ने बताया कि होटल में कुल 65 कमरे हैं, जिनमें से सभी भरे हुए थे. 20 से 25 होटल का स्टाफ भी था. करोलबाग के होटल में हुए आग हादसे की वजह से दिल्ली सरकार ने मंगलवार शाम होने वाले अपने 4 साल के जश्न का कार्यक्रम रद्द कर दिया था. विशाल डडलानी का कार्यक्रम में आईजी स्टेडियम में होना था. इस मामले पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मीडिया को संबोधित कर कहा था कि वह इसकी जांच के आदेश दे रहे हैं ताकि पता चल सके कि क्या वायलेशन हुआ है.

इस घटना के बाद अब होटल पर कानून के उल्लंघन के आरोप लग रहे हैं. बताया जा रहा है कि होटल को 4 मंजिला इमारत की मंजूरी मिली थी, मगर यह 6 मंजिला है. इसे लापरवाही बताया जा रहा है. वहीं, एनडीटीवी के सूत्रों की मानें तो होटल अर्पित पैलेस में सुबह 4 बजे आग लगी. 35 लोगों को होटल के भीतर से बाहर निकाल लिया गया था. पहले जो सूचना मिली थी, उसके मुताबिक, मरने वालों में से 7 पुरुष हैं और एक महिला और एक बच्चा शामिल है. ज्यादातर मौतें दम घुटने की वजह से हुई थी. यह होटल पांच मंजिला है. दमकल की 26 गाड़ियां मौके पर मौजूद थी और आग पर काबू पा लिया गया है. हालांकि, आग को बुझाने का ज्यादातर काम कर लिया गया है. बताया जा रहा है कि आग लगने की घटना को देख 2 लोग होटल से भी कूद गए. फायर ऑफिसर विपिन ने कहा कि आग पर काबू पाने के लिए 30 दमकल की गाड़ियां मौके पर मौजूद थीं. रेस्क्यू अभियान ख्तम हो गया है. कॉरिडोर पर लकड़ी के चौखट थे, जिसकी वजह से लोग उधर से नहीं निकल पाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here