एलिस्टर कुक का खुलासा, बॉल टैम्परिंग के लिए हाथ पर टेप लगाते थे डेविड वॉर्नर

जनता से रिश्ता वेबडेस्क।  दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पिछले साल के बहुचर्चित बॉल टैम्परिंग मामले में ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर को मुख्य साजिशकर्ता माना गया है. माना जाता है कि वह वॉर्नर ही थे जिन्होंने नए खिलाड़ी कैमरॉन बैनक्रॉफ्ट को सैंडपेपर से गेंद की शक्ल खराब करने के लिए कहा था. इस मामले में रजामंदी के लिए कप्तान स्टीव स्मिथ और बैनक्रॉफ्ट को भी बड़ी कीमत चुकानी पड़ी थी. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने बॉल टैम्परिंग मामले में स्मिथ और वॉर्नर पर एक-एक साल और बैनक्रॉफ्ट पर 9 माह का बैन लगाया था. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एलिस्टर कुक  ने अब वॉर्नर पर पहले भी बॉल टैम्परिंग में शामिल होने का आरोप लगाकर माहौल को गर्मा दिया है. कुक ने कहा है कि वॉर्नर ने एक बार उन्हें बताया था कि वह प्रथम श्रेणी मैचों में गेंद से छेड़छाड़ करने के लिए हाथ पर टेप लगाते थे.

कुक के हवाले से लिखा है, “डेविड वॉर्नर ने बीयर पीने के बाद बताया था कि वह प्रथम श्रेणी क्रिकेट में हाथ पर टेप लगाकर गेंद से छेड़छाड़ करते थे. वह टेप पर ऐसा कुछ पदार्थ लगाते थे जिससे गेंद जल्दी से बिगड़ जाए. कुक ने आगे बताया कि मैंने स्टीव स्मिथ की तरफ देखा जो इशारे में कह रहे थे, आपको ऐसा नहीं कहना चाहिए था.”

कुक ने कहा, “स्टुअर्ट ब्रॉड ने इस बात को अच्छे से समाप्त किया और कहा कि एशेज में वह गेंद को रिवर्स स्विंग करा रहे थे. आप जो कर रहे थे उसमें बदलाव क्यों? अचानक से सैंडपेपर क्यों? लोग जानते थे कि क्या हो रहा है, लेकिन यह ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट के लिए सबसे अच्छी चीज हुई क्योंकि इससे उन्हें पता चला कि इस तरह की हरकत मान्य नहीं है. हर हाल में जीत की उनकी जो संस्कृति उन्होंने बनाई थी उसे ऑस्ट्रेलियाई जनता नहीं चाहती थी.