इन बीमारियों में न करें तरबूज का सेवन, बढ़ सकती है प्रॉब्लम

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- फाइबर की मात्रा से भरपूर होने के कारण तरबूज के फायदे ही फायदे हैं। गर्मियों में तरबूज खाने से शरीर में पानी की कमी दूर होती है। लेकिन फाइबर और पानी की मात्रा अधिक होने से इस फल के सेवन से कई लोगों को नुकसान भी हो सकता हैं। किडनी की समस्या और पेट के खराब रहने वाले मरीजों के लिए अधिक मात्रा में पानी और फाइबर वाले फलों का सेवन हानिकारक हो सकता है। तो आइए जानते हैं तरबूज का फल किन लोगों को नहीं खाना चाहिए।

शुगर के मरीज

तरबूज में 100 में से 70 प्रतिशत नैचुरल शुगर पाई जाती है। जो कि शरीर में मौजूद खून में बहुत जल्द घुल जाती है। इसलिए शुगर के मरीजो को इसका सेवन नहीं करना चाहिए। बल्कि कई मरीजों को शुगर के एकदम से कम हो जाने की प्रॉब्लम होती है। ऐसे में तरबूज नैचुरल स्वीटनर का काम करता है। इसके सेवन से शुगर लेवल बहुत जल्द समान्य तरीके से अपने सही लेवल पर आ जाता है।

किडनी की समस्या

विशेषज्ञों के अनुसार किडनी की समस्या से पीड़ित लोगों को तरबूज का सेवन नहीं करना चाहिए। इस बीमारी से पीड़ित लोगों को यूरीन खुलकर नहीं आता। यदि वह 70 प्रतिशत पाने से भरी तरबूज का सेवन करेंगें तो शायद हो सकता है उन्हें किडनी फेलियर का भी सामना करना पड़े।

अस्थमा के मरीज

तरबूज का तासीर ठंडी होने की वजह से इसका सेवन अस्थमा के मरीजों को नहीं करना चाहिए। साथ ही तरबूज में एमिनो एसिड पाया जाता है जो अस्थमा के मरीजों के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

हाई पोटैशियम की प्रॉब्लम

तरबूज में पोटैशियम की मात्रा बहुत अधिक मात्रा में पाई जाती है। इसलिए जो लोग इस तरह की किसी प्रॉब्लम को फेस कर रहें हैं, उन्हें भी तरबूज का बिल्कुल सेवन नहीं करना चाहिए। इसका सेवन करने से यदि पोटैशियम लेवल और बढ़ गया तो उसका सीधा असर हार्ट पर हो सकता है। अगर ज्यादा ही दिल करे तो आप इसका सेवन हफ्ते में 1 बार कर सकते है। साथ में वर्जिश करते रहें।

सही समय पर खाएं तरबूज

जरुरी नहीं है कि तरबूज का परहेज बीमार लोगों के लिए ही है। तरबूज को सही समय पर न खाना भी कई बिमारियों को बुलावा दे सकता है। जैसे कि तरबूज को हमेशा सुबह के वक्त खाना चाहिए, तरबूज में पानी और फाइबर की मात्रा होती है इसलिए सुबह के वक्त इसे खाने से यह हजम जल्दी हो जाता है। साथ ही आपको रात के समय भारीपन महसूस हो और आपका डिनर करने का भी दिल न करे। विशेषज्ञों का मानना है कि तरबूज खाने का सही समय सुबह 11 बजे से 12 बजे तक का होता है।